साहित्य और संस्कृति का उत्सव राष्ट्रीय पुस्तक मेला 11 अक्टूबर से, देखें वीडियो

साहित्य और संस्कृति का उत्सव राष्ट्रीय पुस्तक मेला 11 अक्टूबर से,  देखें वीडियो
National book fair

Dhirendra yadav | Updated: 08 Aug 2019, 05:26:20 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-देश के शीर्ष पुस्तक प्रकाशक आएंगे, 10 दिन तक उत्सव
- 50 से अधिक शीर्ष साहित्यिक हस्तियां होंगी शामिल
-आगरा की सभी साहित्यिक संस्थाओं को मिलेगा मंच

आगरा। ताजमहल (Tajmahal) का शहर एक बार फिर साहित्यकारों (Writers) का स्वागत करने के लिए तैयार है। साहित्य और संस्कृति का उत्सव (cultural festival) राष्ट्रीय पुस्तक मेला (National book fair) 11 से 20 अक्टबूर, 2019 तक आगरा कॉलेज (Agra college) खेल मैदान पर होगा। इसमें देश के शीर्ष पुस्तक प्रकाशक (Book publisher) अपनी पुस्तकें लेकर आएंगे। साहित्य उत्सव के दौरान प्रतिदिन सामाजिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक,शैक्षिक और सामयिक समस्याओं पर गंभीर चिन्तन के लिए संगोष्ठियों का भी आय़ोजन होगा। प्रत्येक संध्या काल में देश के प्रख्यात कलाकारों द्वारा अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी जाएंगी।

ये भी पढ़ें - #BeautyTips: Eyebrow को घना करने के लिए बेस्ट तरीका, इस तरह रखें खयाल

साहित्य और संस्कृति के प्रति जागरुकता लाने का प्रयास
यह जानकारी आगरा साहित्य उत्सव न्यास एवं आगरा लिटरेचर क्लब (Agra literature club) के पदाधिकारियों ने गुरुवार को स्थानीय होटल में आयोजित प्रेसवार्ता में दी। प्रबन्ध न्यासी डॉ. अमी आधार निडर (Dr Ami adhar nidar), क्लब की अध्यक्ष डॉ. नीतू चौधरी एवं महामन्त्री कवि दीपक सरीन, डॉ. रुचि चतुर्वेदी ने बताया कि समाज में साहित्य और संस्कृति के प्रति जागरूकता लाने और युवा पीढ़ी को संचार तकनीकी के इस युग में भी पुस्तकों की उपयोगिता से परिचित कराने के उदेश्य से यह दस दिवसीय आयोजन किया जा रहा है। यह उत्सव युवा पीढ़ी में पुस्तक संस्कृति के बीजारोपण के साथ ही उन्हें भारतीय साहित्य और संस्कृति की विशिष्टताओं के साथ जोड़ने का भी प्रयास करेगा।

ये भी पढ़ें - प्रधान पर गंभीर आरोप, दर्जन भर पीड़ित पहुंचे एसएसपी दफ्तर

National  <a href=Book Fair " src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/08/08/p2_4947423-m.jpg">

साहित्यिक संस्थाओं को मिलेगा मंच
आयोजकों ने बताया कि दस दिवसीय उत्सव में आगरा की सभी साहित्यिक संस्थाओं को भी मंच प्रदान किया जाएगा। सभी इच्छुक संस्थाओं को दोपहर के सत्र में साहित्यिक आयोजनों के लिए निर्धारित समय अवधि हेतु मुख्य मंच उपलब्ध कराया जाएगा। उत्सव में मुख्य मंच के अलावा पुस्तक मेले में आथर्स कार्नर पर भी देश के प्रसिद्ध लेखक अपनी कृतियों के साथ पाठकों से नियमित संवाद करेंगे। इसी स्थान पर स्थानीय रचनाकारों की पुस्तकों का लोकार्पण-विमोचन भी किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि पुस्तकों के प्रति रुचि बरकरार है। पुस्तकालयों में पाठकों के न पहुंचने पर कहा कि पुस्तकें ऑनलाइन मंगाकर पढ़ी जा रही हैं। छपी हुई किताब ही पढ़ने का आनंद है, डिजिटल नहीं।

ये भी पढ़ें - #OnceUponaTime: बटेश्वर कांड ने हिला दी थी अंग्रेजी सरकार, अटल जी को जाना पड़ा था जेल, देखें वीडियो

National book fair

ये होंगे कार्यक्रम
भोजपुरी लोकनृत्य, फूलों की होली, कथकली नृत्य, रासलीला, चुरुकुला नृत्य, कव्वाली, कालबेलिया नृत्य, फिल्म प्रमोशन संबंधी कार्यक्रम होंगे। कार्यक्रम कराने की जिम्मेदारी दीपक सरीन, डॉ. नीतू चौधरी और काची सिंघल को दी गई है। स्टाल बुकिंग राजकुमार शुक्ला करेंगे। ये हैं अतिथि लेखक और कवि सांसद रीता बहुगुणा जोशी, कवि डॉ. विष्णु सक्सेना, संतोष भरतिया, पद्मश्री डॉ. श्याम सिंह शशि, डॉ. जयश्री राय, महंत जनमेजय शरन, डॉ. कृष्णबीर चौधरी, डॉ. अश्वनी महाजन (स्वदेशी जागरण मंच), रामपुरी (जगदगुरु कृपाल परिषद), गायक संतोख सिंह, कलाकार कविता, परी पांडे, कॉमेडियन दिनेश बारा, ज्योतिषविद डॉ. रीतू सिंह, डॉ. चन्द्रभाल सुकुमार, डॉ. सरोजनी प्रीतम, डॉ. शिवशंकर अवस्थी, डॉ. किरन पोपकर गोवा, डॉ. सरोज गुप्ता सागर, डॉ. प्रियंका सोनी जलगांव, डॉ. श्रीराम परिहार मॉरीशस, डॉ. विद्या बिन्दु सिंह लखनऊ, डॉ. करुणा पांडे कोलकाता (सभी लेखक) आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें - राखी सावंत बोलीं धारा 370 हटाए जाने में मेरा हाथ, इस वजह से पीएम नरेंद्र मोदी ले पाए ये निर्णय, देखें वीडियो

आकाशवाणी आगरा केन्द्र प्रतिदिन करेगा प्रसारण
समारोह के मीडिया पार्टनर आकाशवाणी आगरा केन्द्र के प्रभारी नीरज जैन ने बताया कि आगरा आकाशवाणी केन्द्र पूरे आयोजन का प्रतिदिन का समाचार वृत्त नियमित रूप से प्रसारित करेगा। उसे सभी गूगल प्ले स्टोर से न्यूजऑनएअर ऐप के माध्यम से पूरे विश्व में कहीं भी सुन सकते हैं। राखी प्रकाशन के पीयूष भार्गव ने बताया कि देश के सभी प्रमुख प्रकाशकों की सहमति मिलने से यह पुस्तक मेला और साहित्य उत्सव साहित्य प्रेमियों के लिए अदभुत सौगात सिद्ध होगा। उन्होंने स्थानीय प्रकाशकों से भी सक्रिय सहयोग की अपील की।

ये भी पढ़ें - पति ने बीच सड़क पर दिया तीन तलाक, पत्नी ने थाने में दी तहरीर, तीन तलाक कानून बनने के बाद बरेली में पहला मामला...

अप्सा के स्कूल जुड़ेंगे
आगरा प्रोग्रेसिव स्कूल एसोसियेशन (अप्सा) के अध्यक्ष सुशील गुप्ता और महामन्त्री डॉ. गिरधर शर्मा ने बताया कि अप्सा के सभी विद्यालयों के छात्रों को पुस्तकों के इस अनूठे मेले से जोड़ने का पूरा प्रयास होगा। उन्होंने आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान में भावी पीढ़ी को साहित्य, संस्कृति और संस्कारों के साथ जोड़ने की मुहिम को अनवरत चलाना होगा। आगरा साहित्य उत्सव इस दिशा में एक सकारात्मक पहल है और अप्सा के सभी स्कूलों के छात्र-छात्राएं और शिक्षक इस उत्सव में सक्रियता से भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि विभिन्न स्कूलों द्वारा आयोजन में अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी जाएंगी।

ये भी पढ़ें - अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर से यूपी की इस जेल में शिफ्ट किए गए 30 खूंखार कैदी, विशेष विमान से पहुंचे

पोस्टर और ब्रोशर का विमोचन
इस अवसर आयोजन के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से पोस्टर और ब्रोशर का भी लोकार्पण किया गया। लोकार्पण एवं प्रेसवार्ता में आगरा साहित्य उत्सव न्यास की ओर से श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, संदीप श्रीवास्तव एडवोकेट, डॉ. अरूणा गुप्ता, डॉ. महेश भार्गव, आगरा लिटरेचर क्लब कार्यसमिति सदस्य डॉ. पीयूष जैन, कांची सिंघल, पूनम जाकिर, डॉ. रचना सिंह रश्मि, डॉ. शैलेन्द्र सिंह नरवार, डॉ. दीपा गोस्वामी, डॉ. मधु भारद्वाज, सर्वज्ञशेखर गुप्ता आदि उपस्थित थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned