राष्ट्रीय पुस्तक मेला में राजस्थान पत्रिका प्रकाशन के स्टॉल पर जाना न भूलें, जानें क्या है खास, देखें वीडियो

-चारों वेदों का सार है शब्द वेद, वेदों की सूक्तियां बताने वाली पुस्तकें भी

-राजस्थानी व्यंजन, बच्चों को संस्कारित और प्रबंधन की पुस्तकें हिन्दी में

आगरा। एमजी रोड स्थित आगरा कॉलेज मैदान पर इस दिनों आगरा साहित्य उत्सव और राष्ट्रीय पुस्तक मेला 2019 चल रहा है। देशभर के प्रकाशक अपनी पुस्तकें लेकर आए हैं। साहित्यिक पुस्तकों के अलावा मनोरंजक, खाना-खजाना, इतिहास, धर्म, संस्कृति, स्वास्थ्य की जानकारी देने वाली पुस्तकें भी उपलब्ध हैं। ऐसा ही एक स्टॉल है राजस्थान पत्रिका प्रकाशन, जयपुर का।

शब्द वेद’
चार वेदों का सार ‘शब्द वेद’ राजस्थान पत्रिका प्रकाशन का प्रमुख ग्रंथ है। इसमें चारों वेद उपलब्ध हैं। संस्कृत भाषा में है। गुलाब कोठारी ने कुछ पृष्ठ हिन्दी में भी लिखे हैं। वेदों में तमाम तरह की सूक्तियां हैं। प्रत्येक सूक्ति पर पुस्तक यहां देखी जा सकती है। यहां बच्चों को संस्कारित करने वाली अनेक पुस्तकें उपलब्ध हैं।

rajasthan_patrika_book.jpg

राजस्थान व्यंजन की पुस्तकें

जिन्हें राजस्थानी खान-पान में रुचि है, उनके लिए सर्वाधिक उपयोगी है राजस्थान पत्रिका प्रकाशन का स्टॉल। राजस्थान व्यंजन की पुस्तकें यहां उपलब्ध हैं। साथ ही किस बर्तन में भोजन पकाना चाहिए, क्या लाभ और हानि होती है, यह भी बताया गया है।

rajasthan_patrika_books.jpg

प्रबंधन की पुस्तकें हिन्दी में

स्टॉल पर बैठे मुकेश ने बताया कि दर्शक नई तरह की पुस्तकों से परिचत हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि यहां मोटीवेशन और प्रबंधन विषय की पुस्तकें हिन्दी में भी उपल्ध हैं। यह अपने आप में बड़ी बात है। प्रबंधन की पुस्तकें प्रायः हिन्दी में नहीं मिलती हैं, लेकिन हिन्दी भाषी छात्रों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान पत्रिका प्रकाशन ने इनका प्रकाशन किया है। उन्होंने यह भी कहा कि यहां देखने वाले अधिक हैं, पुस्तकें खरीदने वाले कम। फिर भी लोग आ रहे हैं।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned