पत्रिका असर: डाकघर फर्जीवाड़े में तीन सस्पेंड

पत्रिका असर: डाकघर फर्जीवाड़े में तीन सस्पेंड

Dhirendra yadav | Publish: Sep, 10 2018 04:11:23 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 04:22:37 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

Patrika impact three Suspenders in Post Office fraud

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश पीलीभीत के अमरिया में उपभोक्ताओं के खातें से फर्जीवाड़ा कर लाखों रुपये का गबन करने के मामले में तीन कर्मचारी सस्पेंड हो गये हैं। पोस्ट मास्टर जनरल ने इस मामले की खुद जांच की। बता दें कि पत्रिका ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। पत्रिका की खबर के बाद अधिकारियों ने इस मामले में संज्ञान लिया, तो वहीं पाठकों ने पत्रिका समूह को धन्यवाद दिया है।

ये भी पढ़ें - किसानों के खातों से करोड़ो रुपए गायब कर भागा पोस्ट मास्टर

पीएम कार्यालय में हुई थी शिकायत
शिकायतकर्ता एडवोकेट इसरार अहमद ने बताया कि उनके खाते से रुपये 3,70,704 फर्जी ढंग से निकाल लिए गए थे, जिसकी शिकायत उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय और मंत्री मनोज सिन्हा को की थी। एडवोकेट इसरार अहमद ने विशेष तौर पर पत्रिका समूह को मुबारकबाद देते हुए कहा कि यह पत्रिका की खबर का ही असर है कि जो यह घोटाला खुल सका है, अगर पत्रिका इस मसले को नहीं उठाता तो शायद यह मामला नहीं खुल पाता, क्योंकि इस घोटाले को अधिकारी दबाना चाहते थे। पत्रिका ने वीडियो और न्यूज़ छापकर इस मुद्दे को दोबारा जिंदा कर दिया है। जनता पत्रिका की बहुत-बहुत शुक्रगुजार है।


खुद पहुंचे ये बड़े अधिकारी
पोस्ट मास्टर जनरल बरेली मंडल आरकेवी सिंह ने उप डाकघर अमरिया पहुंचकर जांच की। इसके बाद अमरिया के आरोपी पोस्टमास्टर सोहन लाल के अलावा तीन अन्य को भी सस्पेंड कर दिया। उन्होंने भरोसा दिलाया कि दो माह के अंदर खातों की जांच पूरी कराकर पूरे मामले का निस्तारण कर दिया जायेगा।

ये था मामला
मामला अमरिया उप डाकघर का है। पोस्ट मास्टर सोहन लाल ने उपभोक्ताओं के डेढ़ करोड़ रुपये से अधिक का गबन किया और फरार हो गया। डाक विभाग के सहायक अधीक्षक एके जैन ने थाना अमरिया में सात अगस्त को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उधर उपभोक्ताओं द्वारा पीएमजी कार्यालय बरेली में मामले की शिकायत की थी, जिसके बाद इस मामले में जांच हुई।


ये बोले अधिकारी
पोस्ट आॅफिस के अधिकारियों ने बताया कि बीसलपुर के पोस्ट मास्टर बलवंत सिंह, डाक सहायक पीलीभीत एचए खान व बरेली के डाक सहायक को सस्पेंड कर दिया गया है। पोस्ट मास्टर जनरल ने उपभोक्ताओं को आश्वासन दिया कि अब तक 120 खाताधारकों की शिकायत दर्ज कराई है, इसमें अब तक 20 खातों की जांच हो चुकी हे। फर्जी तरीके से निकासी फॉर्म भरकर धन निकाला गया है। अभी जमा खातों की जांच चल रही है, जो लगभग दो माह में पूरी कर ली जायेगी।

ये भी पढ़ें - SC ST Act के खिलाफ ठाकुरों ने किया सबसे बड़ा ऐलान, उड़ जायेंगे भाजपाइयों के होश, वीडियो हो रहा वायरल

 

Ad Block is Banned