scriptPolice played game again mobile robbery case DCP reprimanded the station in-charge in Agra | लूट के मामले में खेल कर गई पुलिस, डीसीपी ने फटकारा तो पीड़ित के घर जाकर मांगी तहरीर | Patrika News

लूट के मामले में खेल कर गई पुलिस, डीसीपी ने फटकारा तो पीड़ित के घर जाकर मांगी तहरीर

locationआगराPublished: Jan 15, 2024 06:31:15 pm

Submitted by:

Vishnu Bajpai

UP News: यूपी की ताजनगरी आगरा में पुलिस के नए-नए खेल सामने आ रहे हैं। अब हरीपर्वत थाना क्षेत्र में मोबाइल लूट की घटना में पुलिस ने खेल कर दिया। इसकी जानकारी पर डीसीपी ने थाना प्रभारी को फटकार लगा दी।

agra_police.jpg
Agra Police: उत्तर प्रदेश के आगरा में नए पुलिस कमिश्नर जे. रविंद्र गौड ने सभी थानेदारों को साफ निर्देश दिए हैं कि पीड़ित की सुनवाई हो। उसकी तहरीर न बदलवाई जाए। मगर उनके निर्देश को थानेदार गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। इसकी सच्चाई मोबाइल लूट के एक मामले से सामने आई। इसमें थानेदार ने पीड़ित की तहरीर ही बदलवा दी। पुलिस ने मोबाइल लूट के मामले को गुम होने का दिखाते हुए तहरीर लिखवा ली। इसकी जानकारी पर डीसीपी ने फटकार लगाई तो थानेदार ने पीड़ित के घर जाकर दोबारा लूट की तहरीर ली।
दरअसल, थाना हरीपर्वत क्षेत्र के नया घेर जीवनी मंडी निवासी संजय जूता फैक्र्टी में काम करते हैं। उनका कहना है कि 10 जनवरी की रात 11 बजे वो पालीवाल पार्क रोड से गधापाड़ा की ओर जा रहे थे। भगवान हास्पिटल के पास एक बाइक पर सवार तीन युवक उनके नजदीक आए और झपट्टा मार कर मोबाइल लूट कर फरार हो गए। पीड़ित ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया। इसके बाद विजयनगर चौकी पर तहरीर दी।

चौकी प्रभारी ने कहा कोर्ट से मिलेगा मोबाइल


पीड़ित ने बताया कि घर पहुंचने के बाद 112 नंबर पर सूचना दी, पुलिस पहुंच गई। इसके बाद संजय ने विजय नगर पुलिस चौकी पर मोबाइल लूट की तहरीर दे दी। अगले दिन चौकी प्रभारी ने उन्हें समझाया कि छीनने की बात लिखने पर मोबाइल कोर्ट से ही मिलेगा। काफी लिखा-पढ़ी के साथ चक्कर काटने पड़ेंगें। उन्होंने पीड़ित को सात दिन के अंदर मोबाइल बरामद करने का दावा किया।
कहा गुमशुदगी की तहरीर लिख दो इससे सात दिन में मोबाइल मिल जाएगा। संजय को बताया लूट का केस दर्ज होने पर मोबाइल बरामद होने के बाद कोर्ट से मिलेगा, इसमें रुपये खर्च होंगे। इस पर संजय ने तहरीर बदल दी। इसके बाद उन्होंने दोबारा मोबाइल गुमशुदा होने की शिकायत ले ली। इस मामले की जानकारी डीसीपी सिटी सूरज राय को हो गई। डीसीपी ने थाना प्रभारी को फटकार लगाई। इसके बाद पुलिस दोबारा कार्रवाई में जुटी। थाना प्रभारी देवेंद्र दुबे पीड़ित पीड़ित के घर गए। यहां उससे लूट की तहरीर ली और मुकदमा दर्ज कराया।
आगरा से प्रमोद कुशवाहा की रिपोर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो