SC ST Act के संशोधन ने बढ़ा दी अनुसूचित जाति के लोगों की मुश्किलें

Abhishek Saxena | Publish: Sep, 11 2018 11:39:42 AM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 06:49:39 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

अब कारोबारियों ने किया ऐलान, इस वर्ग के व्यक्ति को नौकरी पर रखने से पहले कराएंगे पुलिस वेरीफिकेशन

आगरा। SC ST Act से कारोबारी खौफजदा हैं। एससी एसटी एक्ट के विरोध में व्यापारी पिछले कई दिनों से लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। एक बार व्यापारियों ने ऐलान किया था कि यदि जरूरत पड़ी तो अनुसूचित जाति के लोगों को वे अपनी दुकानों पर नौकरी नहीं देंगे। अब व्यापारियों ने ऐलान किया है कि अपने प्रतिष्ठान पर कोई भी कारीगर रखते समय उसका रजिस्ट्रेशन व पुलिस वेरीफिकेशन अवश्य कराएं।

व्यापारी संभल कर रहें, कारीगर का कराए वेरीफिकेशन
आगरा सर्राफा एसोसिएशन ने विभिन्न संगठनों के साथ एक आम सभा की, जिसमें व्यपारियों से सम्बंधित समस्याओं और उनके निवारण पर चर्चा हुई। नितेश अग्रवाल ने कहा कि सभी व्यापारी बस एक ही वाक्य में समझ लें कि SC ST Act के दौर में अब जरा सम्भल कर रहें। कोई भी कारीगर रखते समय उसका रजिस्ट्रेशन व पुलिस वेरीफिकेशन अवश्य कराएं। एससी एसटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए थे केंद्र सरकार ने उन निर्देशों का पालन नहीं किया और एक्ट में संशोधन कर इसे राज्यसभा और लोकसभा में पारित कर दिया। इस एक्ट का दुरुपयोग सबसे अधिक होता है। सवर्ण इस एक्ट के दुरुपयोग के शिकार होते हैं। वहीं ये एक्ट भाई से भाई को लड़ाने वाला एक्ट है। सरकार को इस एक्ट में संशोधन को वापस लेना होगा।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: भाजपा के गढ़ में सपा राष्ट्रीय महासचिव का भाजपा सरकार पर बड़ा हमला

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: केंद्र सरकार की इस नीति के चलते अब 28 सितम्बर को होगा भारत बंद

दो अक्टूबर से शुरू होगा गांधीवादी प्रदर्शन
आगरा से इस एक्ट के विरोध में आवाजें उठी थीं। अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.सुमंत गुप्ता ने इस एक्ट में संशोधन के विरोध में प्रदर्शन की नींव रखी थी। अब आगरा से ही न्याय यात्रा का शुभारंभ किया जाएगा। दो अक्टूबर को गांधीवादी सत्याग्रह भी होगा।

Ad Block is Banned