ताजमहल के शहर में सपना बनकर रह गए प्रधानमंत्री आवास

2019 से पहले देने थे प्रधानमंत्री आवास, आखिर कहां बनेंगे आवास, प्रशासन को नहीं मिल रही जमीन

By:

Published: 24 Jul 2018, 05:48 PM IST

आगरा। प्रधानमंत्री आवास योजना ताज के शहर में सपना बनकर रह गई है। 2019 से पहले शहर में आवंटित किए जाने वाले आवासों के लिए प्रशासन को जमीन नहीं मिल रही है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में इस कार्य की रफ्तार पर कब तेज होगी, ये जानने के लिए ग्रामीण भी उतावले हैं। जनपद में इस वर्ष कुल 2257 आवास बनने थे। बता दें कि ये योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा से लांच की थी।


हजारों लोगों ने किया आवास के लिए आवेदन
मार्च 2019 तक ताजनगरी में अपना आवास होने का सपना देखने वालों को मायूसी हाथ लग रही है। शहर में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर पाने वालों की कतार में हजारों लोग शामिल हैं। डूडा द्वारा इन घरों के लिए आवेदन मंगाए गए थे। वहीं जब 20 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा से इस योजना का शुभारंभ किया था तो सभी को उम्मीद थी कि जल्द ही उनके सिर पर छत होगी। लेकिन, आठ महीने बचे हैं और अभी तक प्रशासन जमीन नहीं तलाश कर सका है। वहीं प्रधानमंत्री ने 2022 तक सबको अपना घर होने का सपना दिखाया था।

आएगी ये लागत
ग्राम्य विकास विभाग ने इस योजना के तहत मकान निर्माण के लिए गाइड लाइन तक जारी कर दी है। जिसमें एक आवास के निर्माण में 1.20 लाख रुपये का खर्च आएगा। शौचालय निर्माण के लिए 12 हजार रुपये मिलेंगे। शहर में पहले जमीन तय होगी, उसके बाद मकान के आवंटन की प्रक्रिया का दौर शुरू होगा।

चिन्ह्ति हुए हैं ऐसे परिवार
बता दें कि जनपद में नौ हजार से ज्यादा ऐसे परिवार चिन्हित किए गए थे, जिनके पास खुद का पक्का मकान नहीं है। ऐसे परिवारों में अनुसूचित जाति के 1730, अल्पसंख्यक 300 और 6876 सामान्य शामिल थे। सामान्य परिवारों की सूची में पिछड़ा वर्ग के परिवार भी शामिल हैं। सूची में अनुसूचित जाति के 931 परिवार आवास के हकदार होंगे, जबकि 3 अनुसूचित जनजाति, 135 अल्पसंख्यक और 1168 अन्य परिवारों को आवास मिलेंगे। अन्य की सूची में सामान्य और पिछड़ा वर्ग के गरीब शामिल हैं। वहीं आगरा जनपद के लिए अभी प्रशासन को जमीन का इंतजार है।

 

ब्लॉकों में ये है स्थिति
जनपद में बनने वाले प्रधानमंत्री आवास योजना के घरों के लिए सभी ब्लॉकों में संख्या निर्धारित हो गई है। अकोला ब्लॉक में 24, अछनेरा में 29, बरौली अहीर ब्लॉक में 46, बाह में 264, एत्मादपुर में 149, फतेहपुरसीकरी में 327, फतेहाबाद में 340, खेरागढ़ में 213, शमसाबाद में 294, जैतपुर कलां में 170, जगनेर में 161, सैंया ब्लॉक में 43, पिनाहट में 42 और खंदौली ब्लॉक में 99 आवास बनाए जाएंगे। प्रधानमंत्री आवास योजना आगरा के निदेशक एके बाजपेयी का कहना है कि आर्थिक आधार पर कमजोर 2257 लोगों को आवास आवंटित किए जाएंगे।



Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned