privatisation in railway: RSS के संगठन BMS से संबद्ध संस्था ने विरोध का झंडा उठाया, कहा- नहीं होने देंगे निजीकरण

privatisation in railway: RSS के संगठन BMS से संबद्ध संस्था ने विरोध का झंडा उठाया, कहा- नहीं होने देंगे निजीकरण
Privatisation in railway

Bhanu Pratap Singh | Updated: 11 Jul 2019, 08:31:00 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ा है भारतीय मजदूर संघ

-बीएमएस से संबद्ध है भारतीय रेलवे मजदूर संघ

-उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ ने मंडल रेल प्रबंधक को ज्ञापन सौंपा

आगरा। भारत सरकार रेलवे का निजीकरण (privatisation in railway) करने जा रही है। देश भर में इसका विरोध हो रहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े संगठन भारतीय मजदूर संघ (BMS) से संबद्ध भारतीय रेलवे मजदूर संघ ने भी विरोध शुरू कर दिया है। गुरुवार को कर्मचारियों ने विरोध का झंडा उठा लिया। कहा कि किसी भी कीमत पर निजीकरण स्वीकार नहीं होगा।

Privatisation in  <a href=railway " src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/07/11/rail_4824083-m.jpg">

सभा में अक्रोश प्रकट किया

भारतीय रेलवे मजदूर संघ के आह्वान पर रेलवे में निजीकरण व निगमीकरण के भारत सरकार के फैसले के विरुद्ध लोको पायलट व गार्ड लॉबी पर उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ के तत्वावधान में मंडल अध्यक्ष श्री राकेश अवस्थी के अध्यक्षता में एक प्रदर्शन सभा का आयोजन किया गया। इसमें श्री सूर्यकांत शर्मा, धर्मपाल, धर्मवीर, हरिवल्लभ दीक्षित, बंसीबदन झा, शतानंद, दिनेश चंद, मंगल सेन मित्तल, शाहिद भाई, संजीत कुमार, हृदेश कुमार, अशोक पाठक आदि ने सरकार की नीतियों पर आक्रोश प्रकट किया। संचालन मंडल मंत्री बंसी बदन झा ने किया। वक्ताओं ने कहा कि रेलवे का निजीकरण करके सरकार अपनै पैरों पर कुल्हाड़ी मार रही है।

Privatisation in railway

मंडल रेल प्रबंधक को सौंपा ज्ञापन

इसके बाद आगरा कैन्ट स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक पर होते मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय पहुंच कर कर्मचारी संघ के मंडल अध्यक्ष राकेश अवस्थी के नेतृत्व में मंडल मंत्री बंसी बदन झा, कार्यकारी अध्यक्ष हरि बल्लभ दीक्षित व भारतीय मजदूर संघ आगरा के जिला मंत्री धर्मपाल एवं क्षेत्रीय प्रमुख धर्मवीर के साथ मंडल रेल प्रबंधक आगरा निगमीकरण व निजीकरण के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रेल मंत्री पीयूष गोयल को संबोधित ज्ञापन सौंपा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned