पारस हॉस्पिटल में हुई मरीजों की मौतों को लेकर प्रियंका गांधी ने प्रदेश सरकार को घेरा, ट्विट कर बोला हमला

— आगरा के पारस हॉस्पिटल संचालक का वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने अस्पताल को सील कराते हुए लाइसेंस भी निरस्त करा दिया है।

By: arun rawat

Published: 09 Jun 2021, 03:40 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आगरा। आगरा के पारस हॉस्पिटल में की गई मॉकड्रिल में 22 लोगों की जान जाने के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्विट कर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने ऑक्सीजन की भारी कमी के बीच लगातार कहा कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है। प्रदेशभर में लोगों की तड़प-तड़प कर जान चली गई। आगरा में भी प्रशासन कह रहा है कि ऑक्सीजन की कमी नहीं थी। उन्होंने पूछा कि क्या उत्तर प्रदेश सरकार आगरा मॉकड्रिल का सच सामने लाकर दोषियों को सजा देगी?
यह भी पढ़ें—

मॉकड्रिल के नाम पर मरीजों की जान लेने वाला पारस हॉस्पिटल सील, मुकदमे की तैयारी

बातचीत का वीडियो हुआ था वायरल
तीन दिन पहले आगरा के भगवान टाकीज स्थित पारस हॉस्पिटल के मालिक का ऑक्सीजन सप्लायर के साथ बातचीत का वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें 26 अप्रैल को सुबह सात बजे पांच मिनट के लिए ऑक्सीजन बंद कर मॉकड्रिल की गई थी। इस पांच मिनट के अंदर 22 लोगों की मौत हो गई थी जबकि अस्पताल में 96 मरीज भर्ती थे। वीडियो वायरल होने के बाद जिला प्रशासन की ओर से कार्रवाई की गई। डीएम प्रभु एन सिंह ने अस्पताल की जांच करते हुए उसे सील करा दिया था। लाइसेंस भी निरस्त हुआ और पूरे मामले की मजिस्ट्रियल जांच कराई जा रही है।
यह भी पढ़ें—

मौत का अस्पताल: पांच मिनट की मॉकड्रिल में 22 लोगों की जिंदगी निकल गया मौत का सौदागर, कर दी थी आॅक्सीजन बंद, ऐसे खुला राज

न्यू आगरा थाने में मुकदमा दर्ज
इस मामले को लेकर थाना न्यू आगरा में श्री पारस अस्पताल के संचालक डॉ. अरिंजय जैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आरके अग्निहोत्री की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे में धारा 144 के उल्लंघन, महामारी अधिनियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम लगाया गया है। प्रशासन ने मुकदमे में कहा है कि आगरा में पर्याप्त ऑक्सीजन की उपलब्धता थी। संचालक के वायरल वीडियो से भ्रम की स्थिति बनी।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned