राधास्वामी मत के गुरु दादाजी के इस बयान ने चौंकाया, देखें वीडियो

88 साल की उम्र में निराशा होती है। व्यक्ति का स्तर, जिसे चरित्र कहते हैं, वह इतना गिरा हुआ नहीं था, जितना आज है।

By:

Published: 26 Dec 2017, 12:10 PM IST

Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा। राधास्वामी मत के वर्तमान आचार्य और आगरा विश्वविद्यालय (डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, आगरा ) के पूर्व कुलपति प्रोफेसर अगम प्रसाद माथुर (दादाजी महाराज) ने यह कहकर चौंका दिया है कि अवतार आया हुआ है। सही दृष्टि से देखने की जरूरत है।

अवतार आया है, सही दृष्टि की जरूरत
राधास्वामी मत के आदिकेन्द्र हजूरी भवन, पीपल मंडी में दादाजी महाराज से पूछा गया था – जब-जब धर्म की हानि होती है, तब तब ईश्वर मानव रूप में अवतरित होते हैं, ईश्वर अवतार कब लेंगे? दादाजी ने कहा- बिलकुल ठीक है कि अवतार आया है। जब-जब धर्म की हानि होती है, ईश्वर आते हैं। अवतार तो है, देखने औऱ समझने की बात है। सही तौर पर देखने की जरूरत है। कर्म के अनुसार चलें। सीमा का उल्लंघन होता है तो बहुत चिन्ताजनक है। 88 साल की उम्र में निराशा होती है। व्यक्ति का स्तर, जिसे चरित्र कहते हैं, वह इतना गिरा हुआ नहीं था, जितना आज है। दिशाहीन हो रहे हैं। उन्हें कुछ पता नहीं होता है कि गुरु प्यार कर रहे हैं। अंधकार की स्थति से बचाने की आवश्यकता है। गुरु की शरण में जाने से ही यह संभव है।

गुरु की नजर सब पर
दादाजी का कहना था कि हमें भारतीय मूल्यों की हर स्थिति में रक्षा करनी चाहिए। किसी को पीड़ा न दें। सबका सहयोग करने के लिए हर समय तैयार रहें। अध्यात्मक की ओर चलें। सच्चे गुरु का संग करें। गुरु की नजरें सब पर रहती हैं। कोई यह सोच रहा है कि गुरु देख नहीं रहे हैं, अनैतिक काम कर लो तो यह उसकी भूल है।

यह भी पढ़ें
राधास्वामी मत के अधिष्ठाता दादाजी महाराज का युवाओं को संदेश


यह भी पढ़ें
राधास्वामी मत के गुरु दादाजी महाराज ने दुखियारों को बताई ये राह

यह भी पढ़ें
दादाजी महाराज का सत्संगियों को मार्मिक संदेश
यह भी पढ़े
यहां जन्मे थे राधास्वामी मत के प्रथम गुरु स्वामी जी महाराज

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned