15 अगस्त 1947 को आजादी की खुशी भी थी, लेकिन दर्द भी था..., पढ़िये ये सच्ची कहानी

Dhirendra yadav

Publish: Aug, 15 2019 05:00:00 PM (IST)

Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा। स्वतंत्रता दिवस का जश्न पूरे देश में धूम धाम से मनाया जा रहा है। युवाओं का जोश देखते ही बन रहा था, तो बच्चे भी उत्साहित हैं। अब हम आपको Patrika.com के स्पेशल प्रोग्राम Once Upon a Time में उस दिन की कहानी बताने जा रहे हैं, जब देश के आजाद होने की सूचना लोगों तक पहुंची, यानि 15 अगस्त 1947। स्वतंत्रता सेनानी चिम्मनलाल जैन से पत्रिका टीम ने उस दिन का दृश्य पूछा, तो उन्होंने बताया कि बेहद ही उत्साहभरा माहौल था, लेकिन बंगाल में जो कुछ हुआ, उसने आजादी की खुशी के रंग में भंग घोलने का काम किया। हिंदू मुस्लिम झगड़ा हो गया। लड़कियों के एक कॉलेज में जो घटना हुई, उससे पूरा देश दुखी था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned