सिलेंडर फटने से हुई चार की मौत, अब तो ले लें सबक

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में दिल दहला देने वाला हादसा हुआ।

By: धीरेंद्र यादव

Published: 24 Jul 2018, 09:19 AM IST

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में दिल दहला देने वाला हादसा हुआ। थाना इरादत नगर क्षेत्र के डाढ़की में सिलेंडर फटने से विस्फोट हुआ, जिसमें चार लोगों की जान चली गई, जबकि 10 लोग घायल हो गए। इस घटना के बाद से बड़ा सबक लेने की जरूरत है। गैस सिलेंडर प्रयोग करने के दौरान जमकर लापरवाही बरती जाती है, जबकि इसके लिए बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें - BIG BREAKING एलपीजी सिलेंडर ब्लास्ट, पांच लोगोंं की मौत

 

ये बरतें सावधानी
जानकार बताते हैं कि सिलेंडर प्रयोग करते समय बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है। सिलेंडर को खुली हवा में या ऐसे कमरे में रखें, जहां हवा आए। प्रेशर रेगुलेटर की नॉब और रबर की ट्यूब को हिलाने में परेशानी न हो। सिलेंडर को सीधा खड़ा रखें। सिलेंडर के पास ऐसे सामन न रखें, जिनसे आग लगने की आशंका हो। सिलेंडर खाली हो या भरा हुआ, वाल्व को खुला न छोड़ें।

ये भी पढ़ें - मेडिकल स्टोर पर मारा गया छापा, तो हुआ बड़ा खुलासा, निकली सस्ते नशे की दुकान

जरूर करें ये काम
दो वर्ष के बाद रबर ट्यूब को बदल दें। रेगुलेटर पर भी निगाह रखें। गैस का प्रयोग करने के बाद रेगुलेटर की नॉब बद कर दें। गैस लीकेज होने पर गैस एजेंसी को फोन कर जानकारी दें। इसके साथ ही अपने सिलेंडर की जांच आप खुद भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने सिलेंडर के कोडवर्ड को चैक करना होगा। आपके यहां आने वाले सिलिंडर पर कोडवर्ड में एक नंबर लिखा होता है, जो बताता है कि सिलेंडर की जांच कब से नहीं हुई है। ये सिलेंडर पर उल्लेदार सर्किल के अंदर लिखा होता है। सिलेंडर के इस कोड में लिखे ए, बी, सी और डी साल के महीनों को दर्शाते हैं।

ये भी पढ़ें - Video धमाके से दो मंजिला मकान ध्वस्त, मौत का मंजर आपको हिला देगा

 

 

धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned