किसानों की समस्याओं पर भाजपा को घेरेगी समाजवादी पार्टी

किसानों की समस्याओं पर भाजपा को घेरेगी समाजवादी पार्टी

Abhishek Saxena | Publish: Jan, 14 2018 05:29:31 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

27 जनवरी को आगरा जनपद की तहसील मुख्यालय होगा धरना प्रदर्शन, आगरा में सपा ने बनाई रणनीति

आगरा। समाजवादी पार्टी लगातार भाजपा सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाती रही है। किसानों की समस्याओं को लेकर समाजवादी पार्टी बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है। आगामी 27 जनवरी को पार्टी मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन करेगी। आगरा समाजवादी पार्टी के मीडिया प्रभारी सौरभ गुप्ता ने बताया कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर पूरे उत्तर प्रदेश मे 27 जनवरी 2018 को सभी तहसीलों और मुख्यालयों पर धरना दिया जायेगा। आगरा से इसकी रणनीति बनाई जा रही है।

कानों में तेल डाले बैठी है भाजपा सरकार
महानगर अध्यक्ष वाजिद निसार ने कहा कि किसानों की समस्याओं के समाधान की ओर प्रदेश सरकार ने जो रवैया अख्तियार किया है, उससे लगता है कि उत्तर प्रदेश सरकार कानों में तेल डाल कर बैठी हुई है। वास्तव में योगी सरकार विकास विरोधी होने के साथ और घोर किसान विरोधी सरकार है। इसलिए समाजवादी पार्टी द्वारा निर्णय लिया गया है कि समाजवादी पार्टी सरकार का ध्यान आकर्षित करके उनका समाधान कराने के उद्देश्य तहसील मुख्यालय पर धरना देगी।

इन समस्याओं को लेकर प्रदर्शन करेगी पार्टी
मीडिया प्रभारी सौरभ गुप्ता ने बताया कि प्रदेश नेतृत्व से समस्याओं संबंधी निर्देश प्राप्त हुए हैं। आगरा में आलू किसान की बहुतायात है। समाजवादी पार्टी का कहना है कि किसान की कल्याण की अनेकों योजनाओं व कार्यक्रमों की घोषणा सरकार प्रतिदिन करती है, लेकिन वास्तव में धरातल पर किसानों के लिए कोई भी लाभकारी कार्य नहीं हुआ है। किसान प्रतिदिन बर्बाद होता जा रहा है। आलू की खरीद का वादा सरकार ने सत्ता संभालते ही मार्च 2017 में किया था। लेकिन आज किसान आलू फेंकने को मजबूर हो गया है। लागत दाम भी न मिलने से कोल्ड स्टोरेट से आलू की निकासी नहीं हो पा रही है। धान की अच्छी उपज के बाद किसानों के धान को बिचौलियों द्वारा खरीदा जा रहा है। सरकारी खरीद बिचौलियों द्वारा कराई जा रही है। किसान को धान औने पौने दाम पर देना पड़ रहा है। किसानों द्वारा खेती की सिंचाई के लिए निजी नलकूप लगाए गए हैं। समाजवादी सरकार में बिजली के सिंचाई के नलकूपों के लिए 800 रुपये से एक हजार रुपये हार्सपावर देना पड़ता था। लेकिन, किसान विरोधी सरकार ने बिजली की दरों में बेतहाशा वृद्धि कर आज इसे दो गुना कर दिया। रवि की फसल की बुवाई के लिए उर्वरक नहीं मिल रहा है। गन्ना किसानों को गन्ना का मूल्य नहीं मिला पाया है। वहीं अन्य क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। मीडिया प्रभारी सौरभ गुप्ता ने बताया कि सभी जिलाध्यक्ष, विधायक, पूर्व विधायक, पूर्व प्रत्याशी इस शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन में शामिल होंगे।

Ad Block is Banned