इंजीनियर कार्यकर्ता ने सपा के लिए बनाया Smart booth ऐप, लोकसभा चुनाव 2019 में करेगा कमाल, जानिए खूबियां

Bhanu Pratap

Publish: Jun, 14 2018 11:21:08 AM (IST) | Updated: Jun, 14 2018 05:18:18 PM (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
इंजीनियर कार्यकर्ता ने सपा के लिए बनाया Smart booth ऐप, लोकसभा चुनाव 2019 में करेगा कमाल, जानिए खूबियां

स्मार्ट बूथ ऐप के माध्यम से विधानसभा स्तर पर चुनाव के दिन यह भी पता लगाया जा सकेगा कि बूथ पर कमेटी के सदस्य पहुँचे हैं अथवा नहीं।

आगरा। चुनाव जीतने की सबसे हम बात है बूथ पर मजबूती। ‘बूथ जीतो, चुनाव जीतो’। भारतीय जनता पार्टी का तो सारा जोर बूथ पर ही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह स्वयं बूथ तक जा रहे हैं। बूथ का मतलब है करीब 1500 वोटरों की चिन्ता करना। समाजवादी पार्टी भी इसी राह पर है। लोकसभा चुनाव 2019 के दृष्टिगत समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता सॉफ्टवेयर इंजीनियर दिलीप प्रताप सिंह ने स्मार्ट बूथ (Smart booth) ऐप बनाया है। इसमें पूरे उत्तर प्रदेश के बूथवार आकड़े हैं। यह ऐप सपा के जिलाध्यक्षों और कार्यकर्ताओं की पोलपट्टी भी बताता रहेगा। बूथ कमेटी के नाम पर किया जा रहा फर्जीबाड़ा बंद हो जाएगा। यह ऐप मुसीबत में पड़ने पर कार्यकर्ता की मदद भी करेगा। यह ऐप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें

कासगंज में सामने आया बीजेपी विधायक की गुंडागर्दी का मामला

 

ऐप पर होगा पंजीकरण

'स्मार्ट बूथ' ऐप में बूथ कमेटियों को ऑनलाइन फीड किया जाएगा। आधुनिक तकनीकियों के माध्यम सदस्य का पंजीकरण बूथ पर हो जाएगा। इस प्रकार फर्जी और निष्क्रिय रूप से काम करने वालों को घर बैठकर बूथ कमेटी बनाने पर रोक लगाई जा सकेगी। ऐप को तीन तरह से कंट्रोल किया जाएगा। प्रदेश कार्यालय, जिला और विधानसभा कार्यालय तक ऑनलाइन जोड़ा जाएगा। इसमे फ़ोटो के साथ बूथ कमेटी की सूची बनाई जाएगी, जिसको डाउनलोड कर शेयर भी किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें

राशन के नाम पर डीलर कर रहा ग्रामीणों से 300 रुपए की वसूली, वीडियो वायरल

 

Smart booth app

रैली में कार्यकर्ताओं की संख्या बताएगा

स्मार्ट बूथ ऐप के माध्यम से विधानसभा स्तर पर चुनाव के दिन यह भी पता लगाया जा सकेगा कि बूथ पर कमेटी के सदस्य पहुँचे हैं अथवा नहीं। अपनी ड्यूटी न करने वाले कार्यकर्ताओं से तुरंत संपर्क कर बूथ पर पहुँचने की सूचना दी जाएगी। मोबाइल ऐप जीपीएस तकनीक पर काम करेगा। इसके माध्यम से पार्टी स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों में उपस्थित होने वालों सक्रिय कार्यकर्ताओं की जानकारी प्राप्त होगी। पार्टी की रैलियों में कार्यकर्ताओं की संख्या का भी आसानी से पता लगाया जा सकेगा। इसके माध्यम से विधानसभा स्तर बूथ कमेटी के सदस्यों को एक क्लिक पर सूचनाओं का आदान -प्रदान भी किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें

40 दिन में बनी ईदगाह मस्जिद, साल में सिर्फ दो बार होती है नमाज

dilip pratap singh

मुसीबत में मदद करेगा

दिलीप प्रताप सिंह ने पत्रिका को बताया- ऐप की सबसे बड़ी खासियत यह है कि कार्यकर्ता अगर किसी मुसीबत में होगा तो वह ऐप के माध्यम से एक संदेश देकर सभी को अवगत करा सकता है। ऐसे कार्यकर्ता अपनी लोकेशन जीपीएस के माध्यम से भेजकर तुरन्त सहायता मांग सकते है। आगरा से शुरू की गई इस ऐप को जल्दी ही अन्य जनपदों में लागू किए जाने पर भी विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें

72 लाख नाड़ियों व सात चक्रों को शुद्ध करता है योग, प्राणायाम, ध्यान

अखिलेश यादव के समक्ष प्रस्तुतीकरण शीघ्र

समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रामसहाय यादव ने बताया कि स्मार्ट बूथ ऐप के बारे में आगरा के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका उन्होंने बताया कि आगरा में लोकसभा चुनाव 2019 का आधार स्मार्ट बूथ ऐप बनेगा। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष स्मार्ट बूथ ऐप का प्रस्तुतीकरण शीघ्र किया जाएगा। आशा है कि राष्ट्रीय स्तर पर स्मार्ट बूथ ऐप लागू होगा।

यह भी पढ़ें

कुत्ते को सड़क में दबाकर मारने वाले गिरफ्तार, नौकरी से बर्खास्त

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned