विश्व मधुमेह दिवस 2017: कुंडली में शुक्र कमजोर होने से होती है डायबिटीज

suchita mishra

Publish: Nov, 14 2017 12:15:47 (IST) | Updated: Nov, 14 2017 12:21:04 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
विश्व मधुमेह दिवस 2017: कुंडली में शुक्र कमजोर होने से होती है डायबिटीज

विश्व मधुमेह दिवस 2017- बीमारियों का कारण कई बार ग्रह की खराब स्थितियां भी होती हैं। यहां पढें डायबिटीज किस ग्रह के कारण होती है और नियंत्रित कैसे करे

आज 14 नवंबर को विश्व मधुमेह दिवस है। खराब जीवनशैली के कारण होने वाली यह एक ऐसी बीमारी है, जो तेजी से पूरी दुनिया में अपने पैर पसार रही है। इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए 14 नवंबर का दिन विश्व मधुमेह दिवस के रूप में मनाया जाता है। अब तक आपने इस बीमारी से जुड़े तमाम चिकित्सकीय तथ्यों को सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह रोग कई बार कुंडली में ग्रहों की स्थिति बिगड़ने के कारण भी होता है? ज्योतिषाचार्य डॉ. अरबिंद मिश्र से जानते हैं कि ग्रह की कमजोर स्थिति मधुमेह का कारण बनती है और क्या है इसे मजबूत करने का उपाय—

शुक्र ग्रह देता है डायबिटीज रोग
रूप सौंदर्य, आकर्षण, धन संपत्ति, व्यवसाय, प्रेम वासना आदि सांसारिक सुखों के कारक शुक्र है। जब यह कुंडली में मजबूत स्थिति में होता है तो व्यक्ति का जीवन विलासितापूर्ण गुजरता है। लेकिन जब यह कमजोर होता है तो कई परेशानियों का कारण बनता है। डायबिटीज की बीमारी शुक्र के कमजोर होने के कारण होती है। इसके अलावा शुक्र कमजोर होने से आर्थिक कष्ट, कुष्ठ रोग, गुप्त रोग, गर्भाशय संबंधी रोग आदि भी हो सकते हैं।

शनि और राहू का भी असर
डायबिटीज एक लंबी बीमारी है और लंबी बीमारियां शनि के कमजोर होने से भी होती हैं। वहीं राहू दिमाग को प्रभावित करता है यानी तनाव, अनिद्रा आदि परेशानियां देता है। आपने पढ़ा होगा कि तनाव मधुमेह का बड़ा कारण होता है और तनाव या अन्य मानसिक परेशानियां राहू पैदा करता है। ऐसे में डायबिटीज की बीमारी में शुक्र के साथ साथ शनि और राहू भी जिम्मेदार होते हैं।

ये हैं उपाय
1. स्त्री का सम्मान करें।
2. शुक्र मंत्र ओम सं शुक्राय नम: का जाप करें।
3. माता लक्ष्मी की आराधना करें।
4. आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए सूर्य को जल दें और ओम घृणि सूर्याय नम: मंत्र का जाप करें।
5. राहू की शांति के लिए ओम भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहुवै नम: मंत्र का जाप करें।
6. शनि को प्रसन्न करने के लिए गरीब, कमजोर व असहायों की मदद करें।
7. पीपल के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
8. हनुमान बाबा की आराधना करें।
9. शुक्रवार के दिन सफेद चीजें जैसे सफेद वस्त्र, चावल, चीनी, दूध, दही आदि का दान करें।
10. सफेद मोती, सफेद पुखराज, सफेद टोपाज आदि रत्न धारण करें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned