बार में उत्पात मचाने वाले 15 ​जूनियर डॉक्टर भेजे जेल, साथियों ने ठप की इमरजेंसी सेवाएं

Abhishek Saxena | Publish: Sep, 16 2018 06:45:37 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 07:15:39 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

एसएन मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने देर रात एक बार में मचाया था उत्पात, पुलिस से भिड़ गए थे जूनियर डॉक्टर

आगरा। एसएन मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों द्वारा देर रात देहली गेट स्थित अशोका बार में मचाए गए उत्पात के मामले में पुलिस ने 25 जूनियर डॉक्टरों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें से 15 जूनियर डॉक्टरों को जेल भेज दिया है। वहीं 10 को धारा 151 में पाबंद किया गया। थाना हरीपर्वत पुलिस की कार्रवाई से अन्य जूनियर डॉक्टरों ने एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में चिकत्सिा सेवाएं ठप कर दीं। समूचे मामले में कॉलेज प्रशासन के साथ ही जिला प्रशासन भी विवाद का हल निकालने की कोशिश की लेकिन, कामयाबी नहीं मिली।

जूडा ने जताई नाराजगी
गौरतलब है कि शनिवार रात एक जूनियर डॉक्टर की बर्थडे पार्टी के दौरान जूनियर डॉक्टरों ने अशोका बार में जमकर उत्पात मचाया था। नशे में धुत होकर उन्होंने न केवल बार के कर्मचारियों से मारपीट और तोड़फोड़ की बल्कि सूचना पर पहुंची पुलिस के साथ भी जमकर मारपीट कर दी। पुलिस वालों की वर्दी तक फाड़ दी। पुलिस के साथ मारपीट होने की वजह से मामले ने तूल पकड़ लिया। भारी संख्या में पहुंचे पुलिस बल ने जूनियर डॉक्टरों को खदेड़ दिया। पुलिस ने रात से ही 25 जूनियर डॉक्टरों को गिरफ्तार कर रखा है। इनमें से नौ मुकदमे में नामजद थे। साथियों की गिरफ्तारी से आक्रोशित जूडा ने इमरजेंसी की चिकत्सिकीय सेवाएं ठप कर दीं। इसकी जानकारी होने पर मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने सीनियर डॉक्टरों को इमरजेंसी में तैनात कर दिया। गंभीर हो चुके इस मामले का हल निकालने के लिए जिलाधिकारी ने एसएन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल की बैठक की। लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

16 जूनियर डॉक्टरों को आज गिरफ्तार
हरीपर्वत पुलिस ने नौ जूनियर डॉक्टरों को पकड़ा था और उन्हें थाने ले आई थी। थाने पहुंचने के बाद पुलिस को उन्होंने बताया कि वह जूनियर डॉक्टर्स हैं। यह सुनते ही पुलिस भी सकते में आ गई। इस बीच कुछ ही देर बाद जूनियर डॉक्टर्स की भीड़ अशोका बार में पहुंच गई। वहां मौजूद मिले कर्मचारियों से लेकर मालिक तक से मारपीट की गई। बार मालिक ने फिर से पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो जूनियर डॉक्टरों की भीड़ पुलिसकर्मियों पर भी टूट पड़ी। एक सिपाही वीडियो बनाने लगा तो उसके साथ मारपीट कर दी। जूनियर डॉक्टरों ने साथियों के पकड़े जाने के विरोध में रात में ही एसएन इमरजेंसी की आपात सेवाओं को ठप कर दिया और सड़क पर जाम लगा दिया। 16 अन्य जूनियर डॉक्टरों को गिरफ्तार कर थाने ले आया गया। उसके बाद जूनियर डॉक्टरों में भगदड़ मच गई। जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के बाद इमरजेंसी की कमान सीनियर डॉक्टरों ने संभाल ली है। लेकिन, आज 15 जूनियर डॉक्टरों को जेल भेज देने के बाद से हालात और बिगड़ गए।

Ad Block is Banned