बिजली का सबसे अच्छा विकल्प सौर ऊर्जा, उत्पादन लागत कम करने के लिए हर उद्यमी अपनाए, देखें वीडियो

बिजली का सबसे अच्छा विकल्प सौर ऊर्जा, उत्पादन लागत कम करने के लिए हर उद्यमी अपनाए, देखें वीडियो
Solar Energy plant

Bhanu Pratap Singh | Updated: 14 Jun 2019, 04:09:04 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-सूक्ष्म, लघु एवं मध्य उद्यम के निदेशक आरके कपूर ने उद्यमियों का किया -आह्वान

-आगरा में होपलाइट एनर्जी के प्लांट का शुभारंभ, पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने में मिलेगी मदद

आगरा। सूक्ष्म, लघु एवं मध्य उद्यम के निदेशक आरके कपूर का कहना है कि बिजली का सबसे अच्छा विकल्प सौर ऊर्जा है। उत्पादन लागत कम करने के लिए हर उद्यमी सौर ऊर्जा अपनाए। सोलर एनर्जी में गुणवत्तायुक्त बिजली मिलेगी। हर समय एक जैसे ही वोल्टेज मिलेंगे।

यह भी पढ़ें

World Blood Donor Day: कई बीमारियों से आपको बचाता है रक्तदान यकीन न हो तो पढ़ लीजिए ये खबर!

बिजली का विकल्प है सोलर एनर्जी

श्री कपूर होपलाइट एनर्जी सॉल्यूशंस के उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम (यूपीएसआईडीसी) के औद्योगिक क्षेत्र सिकंदरा साइट सी में सौर ऊर्जा प्लांट के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि कुछ साल से बिजली के हालात आगरा में अच्छे हैं। इसके साथ ही बहुत सारे क्षेत्र ऐसे हैं, जहां बिजली की समस्या बहुत अधिक है। छह से 10 घंटे की बिजली कटौती है। ये बात मैं पूरे देश के परिप्रेक्ष्य में कह रहा हूं। हमारे पास एक ही उपाय है कि बिजली का विकल्प ढूंढें। सरकार बिजली देगी तो खंबे गाड़ने होंगे, तार खींचने होंगे और ट्रांसफार्मर लगाने होंगे। उन्होंने उदाहरण दिया कि पिछली बार एक लघु उद्यमी मेरे पास आए और कहा कि बिजली का संयोजन नहीं मिल रहा है। ट्रांसफार्मर फैक्ट्री से सवा किलोमीटर दूर है। बिजली विभाग ने संयोजन के लिए सवा करोड़ रुपये का आगणन दिया है। फैक्ट्री में 20 लाख का काम होता है। मैं मदद नहीं कर पाया। इसके बाद मैं सबसे कहता हूं कि सोलर प्लांट लगाएं। बहुत सस्ता पड़ेगा और उत्पादन की लागत कम आएगी।

यह भी पढ़ें

Big Breaking: दिनदहाड़े गनपॉइंट पर भाई-बहन से बदमाशों ने की लाखों की लूट

Welcome

उत्पादन लागत घट जाएगी

श्री कपूर ने कहा कि हमारी मजबूरी भी है कि बिजली के विकल्प ढूंढें। बिजली का ज्यादातर उत्पादन कोयला से होता है। कोयला का सीमित भंडार है। हो सकता है 10-25 साल बाद कोयला खत्म जाएगा। कोयला पर निर्भर रहे और समाप्त हो गया तो क्या होगा? विकल्प है सौर ऊर्जा। सूर्य देवता सबकुछ फ्री देते हैं। इसके अनेक लाभ हैं। बिजली से कहीं सस्ती है सौर ऊर्जा। प्रारंभ में पैसा जाता है, लेकिन लागत कम हो जाएगी। उदाहरण के लिए माउस की लागत लें। इस पर हम खर्चा कम कर सकते हैं। कम खर्चा तो लाभ अधिक। बिजली का खर्चा बहुत अधिक है। किस्मत से हमारे यहां टोरंट कंपनी आ गई है। इससे पहले वोल्टेज कभी 120 तो कभी 320 मिलते थे। घर के उपकरण फुंक जाते थे।

यह भी पढ़ें

ढाई साल की बिटिया की निर्मम हत्या पर भाजपा सांसद ने दिया ऐसा बयान कि फिर से गर्माने लगा शांत होता माहौल...

प्रधानमंत्री के लक्ष्य को हासिल करेंगे

होपलाइट एनर्जी के प्रबंध निदेशक कौस्तुभ भांति ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का लक्ष्य है कि 2022 तक भारत में 100 बीगा वॉट सौर उर्जा का उत्पादन हो। इस दिश में प्रधानमंत्री मोदी के प्रयास सराहनीय हैं। हम ये लक्ष्य जल्दी प्राप्त कर लेंगे। भारत में सौर ऊर्जा की अपार संभावनाएं हैं। भारत में सबसे अधिक दक्षिण भारत सौर ऊर्जा उपयोग करता है। उत्तर प्रदेश और राजस्थान पीछे हैं और इन राज्यों में अधिक उत्पादन के अवसर हैं। इस कारण आगरा में प्लांट स्थापित कर रहे हैं। अभी तक दिल्ली वाले लाभ उठा रहे हैं और वे समय पर आपूर्ति नहीं कर पाते हैं। उन्होंने बताया कि हम आगरा में सोलर माउंटिंग स्ट्रक्चर बनाएंगे। छत पर ऐसे स्ट्रक्चर लगाए जा रहे हैं कि नीचे के स्थान का उपयोग भी कर सकते हैं। ऐसे स्ट्रक्चर भी बनाएंगे कि सोलर पैनल के नीचे कार भी खड़ी हो सकती है। दिल्ली और नोएडा पर निर्भरता समाप्त करेंगे। उन्होंने बताया कि मैनपुरी का सबसे बड़ा कोल्ड स्टोरेज सौर ऊर्जा से चल रहा है। आगरा में कई जूता निर्यातक इकाइयां सौर ऊर्जा से चलने वाली हैं।

यह भी पढ़ें

यूपी के इस जिले में 533 लोग खोज रहे टीबी के मरीज, टोल फ्री नम्बर जारी, देखें वीडियो

guest

पर्यावरण सुरक्षित रखने के लिए जरूरी

होपलाइट के निदेशक कुलदीप सिंह, मुख्य अधिशासी अधिकारी (सीईओ) रूपेश कुमार, हैड प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एंड सर्विसिंग तनूजा भांति, सलाहकार उत्कर्ष भांति ने कंपनी के उत्पादों के बारे में जानकारी दी। सीईएमजी इंजीनियरिंग एंड कंसल्टेंट्स के निदेशक इंजीनियर अनिल गोयल ने बताया कि वक्त सौर ऊर्जा अपनाने का है। इस तरह के प्रोजेक्ट पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए आवश्यक हैं। सोलर एनर्जी से दैनिक खर्चों में कमी आएगी। अतिथियों का आभार तनूजा भांति ने किया। संचालन रेनू सिंह ने किया।

Guest
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned