इन अधिशासी अधिकारी को कार्यालय में नहीं मिला शौचालय, तो उठाया बड़ा कदम

Dhirendra yadav

Publish: Feb, 15 2018 08:59:20 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
इन अधिशासी अधिकारी को कार्यालय में नहीं मिला शौचालय, तो उठाया बड़ा कदम

महिला अधिकारी को 29 जनवरी को नगर पंचायत स्वामी बाग के कार्यालय में तैनाती मिली।

आगरा। उत्तर प्रदेश की सबसे छोटी नगर पंचायत स्वामी बाग के कार्यालय में शौचालय नहीं होने पर महिला अधिकारी ने आॅफिस आना बंद कर दिया, उन्होंने इस बारे में नगर पंचायत अध्यक्ष को भी बता दिया है। महिला अधिकारी को 29 जनवरी को यहां तैनाती मिली। जिसके बाद वे कार्यालय आईं, उन्हें कार्यालय में शौचालय नहीं मिला, जिसके बाद उन्होंने आॅफिस आना छोड़ दिया।

अधर में लटके कई कार्य
स्वमी बाग नगर पंचायत कार्यालय में अधिशासी अधिकारी के पद पर सुचेता अरोड़ा 29 जनवरी को मउ से स्थानांतरित होकर आईं हैं। वे दफ्तर पहुंची, तो दंग रह गईं, वहां शौचालय नहीं मिला। अधिशासी अधिकारी ने बतनाया कि ज्वाइनिंग के पहले दिन पंचायत अध्यक्ष को कार्यालय में टॉयलेट न होने की समस्या बताई थी। कार्यालय में टॉयलेट न हो, ऐसे में वहां कोई महिला पूरे दिन बैठकर कैसे काम कर सकती है। उन्होंने शौचालय के लिए स्थान पूछा, तो उन्हें समाध परिसर के अंदर भवन में जाने को कहा गया, जो कि कार्यालय से दूर है। जिसके बाद उन्होंने कार्यालय में आना छोड़ दिया, जिससे तमाम काम अधर में लटक गए।

ये भी पढ़ें -

Valentine day: ओ कम्प्यूटर युग की छोरी, मैं प्यार तुम्हें नहीं दे पाऊंगा..., जरूर सुनें ये गीत

इसलिए नहीं बना टॉयलेट
पंचायत अध्यक्ष संजय कपूर ने बताया कि पंचायत कार्यालय में स्थान का अभाव है, जिसके चलते यहां शौचालय नहीं बनाया जा सका। उन्होंने बताया कि अब इसकी व्यवस्था की जा रही है। कार्यालय में स्टोर की जगह में शौचालय का निर्माण कराया जाएगा। बता दें कि 1956 में यह नगर पंचायत बनी थी। इसका कार्यालय स्वामीबाग समाध के मुख्य द्वार के समीप राधास्वामी सत्संग के स्वामित्व वाले एक भवन में संचालित है। हालांकि इस कार्यालय में अध्यक्ष पद पर दो दशक पहले सुनीति दत्ता और बीरा कलानी रह चुकी हैं। इस बार भी नगर पंचायत बोर्ड में चार वार्डों से महिलाएं सदस्य निर्वाचित हैं। टॉयलेट न होने से सभी परेशान है।

 

1
Ad Block is Banned