ताज महोत्सव 2018 में ताजमहल पर उड़ेंगे धुएं के गुबार

Abhishek Saxena

Publish: Feb, 15 2018 10:37:09 AM (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा। ताजमहल पर इस बार फिर से धुएं के गुबार उड़ेंगे। शिल्पग्राम में लगने वाले ताज महोत्सव में डीजल चालित झूले लगाए जा रहे हैं। दस से 12 दिनों तक प्रदूषण की आंधी यहां आएगी। वायु प्रदूषण के साथ साथ ध्वनि प्रदूषण भी बढ़ेगा। महोत्सव में लगने वाले झूलों के लिए डीजल इंजन लगाए जा रहे हैं।

तीन दिन रह गए शेष
ताज महोत्सव की शुरूआत में महज तीन दिन शेष रह गए हैंं। 18 फरवरी को ऐतिहासिक ताज महोत्सव शुरू होना है। इसके लिए शिल्पग्राम में तैयारियां चल रही हैं। यहां विभिन्न राज्यों से शिल्पकार आएंगे, तो मनोरंजन के लिए विभिन्न तरीके के झूले भी यहां सजाए जा रहे हैं। ऐसे में इन डीजल से चलने वाले झूलों से धुएं का गुबार उड़ेगा। शिल्पग्राम से ताजमहल की दूरी महज कुछ सौ मीटर की है। लगातार 10-12 दिन तक यहां प्रदूषण की आंधी चलेगी। वहीं मेले में लगने वाले झूलों के साथ साथ शॉवरिंग न होने से कच्ची जमीं पर पार्किंग से धूल के गुबार उड़ रहे हैं। बता दें कि ताज ट्रिपेजियम जोन में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिए हैं कि डीजल चालित वाहन और अन्य उपकरण नहीं चलाए जाएंगे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned