scriptमौत के 26वें दिन अपनी मिट्टी में इंजीनियर का अंतिम संस्कार, पत्नी बोलीं- मैंने तुम्हे सलामत भेजा था, ये क्या हो गया | The funeral was held in his own soil on the 26th day of his death | Patrika News
आगरा

मौत के 26वें दिन अपनी मिट्टी में इंजीनियर का अंतिम संस्कार, पत्नी बोलीं- मैंने तुम्हे सलामत भेजा था, ये क्या हो गया

Merchant Navy Officer Dies:: चीन में आगरा के मरीन इंजीनियर अनिल कुमार श्रीवास्तव की मौत हो गई थी। परिजन 26 दिन से बॉडी का इंतजार कर रहे थे। रविवार दोपहर को मरीन इंजीनियर की बॉडी एंबुलेंस से दिल्ली से आगरा पहुंची।

आगराJul 08, 2024 / 08:47 am

Aman Pandey

MERCHANT NAVY OFFICER ANIL KUMAR, MERCHANT NAVY OFFICER DIES IN CHINA, MERCHANT NAVY ANIL KUMAR, AGRA NEWS, LAST RITES HELD IN AGRA
Merchant Navy Officer Dies: चाणक्यपुरी जगदीशपुरा के रहने वाले मरीन इंजीनियर अनिल कुमार की पार्थिव देह रविवार को 25 दिन बाद आगरा लाई गई। 12 जून को उनकी चीन में हार्ट अटैक से मौत हो गई। पति का शव देखकर पत्नी बेहाल हो गई। परिवार में कोहराम मच गया। शव के पहुंचते ही कालोनी के लोग भी जमा हो गए थे। पुलिस ने पहले पोस्टमार्टम कराया फिर अंतिम संस्कार किया गया।
कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद रविवार को चीन से दिल्ली एयरपोर्ट पर पार्थिव देह लाई गई। दोपहर में 12:45 बजे एंबुलेंस से चाणक्यपुरी स्थित आवास पर लाई गई। एंबुलेंस का सायरन बजते ही पत्नी, बेटा, बेटी दौड़ पड़े। कालोनी के लोग भी पहुंच गए। ताबूत में बंद पति की देह को देखकर पत्नी फूट-फूटकर रोने लगीं। बस एक ही बात बोल रही थी कि पति को सही सलामत भेजा था, उन्हें यह क्या हो गया। पुलिस पहले पोस्टमार्टम गृह पर शव को लेकर गई। शाम को 4:15 बजे शव को निवास पर लाया गया तो पत्नी रोते हुए चीखने लगीं और बेहोश भी हो र्गईं। मां का भी हाल बेहाल था। वह बेटे के शरीर से लिपट गईं।

फोरेंसिक टीम के साथ कराई गई वीडियोग्राफी

बेटा और बेटी हाथ जोड़कर पिता के पार्थिव शरीर के आगे दहाड़ें मारकर रोने लगे। अनिल कुमार की पार्थिव देह आने को लेकर रविवार सुबह से ही थाना जगदीशुपरा के प्रभारी निरीक्षक आनंदवीर सिंह फोर्स के साथ पहुंच गए थे। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया है। फोरेंसिक टीम के साथ वीडियोग्राफी कराई गई है।

पत्नी ने पीएम से मांगी थी मदद

मरीन इंजीनियर अनिल कुमार श्रीवास्तव की मौत की खबर सुनकर उनका परिवार सन्न रह गया था। उनकी मां और धर्मपत्नी ने पार्थिव देह के लिए दिल्ली से लेकर चीन तक संपर्क किया था। मृतक की पत्नी ने इसके लिए विदेश मंत्रालय के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक्स पर पोस्ट कर मदद मांगी थी। आगरा के सांसद प्रो. बघेल ने विदेश मंत्री से बातचीत की। वह लगातार दो दिन तक विदेश मंत्री के संपर्क में रहे।

दोपहर करीब 1 बजे आगरा पहुंचा शव

मरीन इंजीनियर का पार्थिव शरीर रविवार सुबह करीब पांच बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचा। पहले शव चीन के शंघाई शहर से फ्लाइट संख्या टीके 6481 से इस्तांबुल के लिए रवाना हुआ। इस्तांबुल से दिल्ली एयरपोर्ट, यहां से पार्थिव शरीर को एंबुलेंस से आगरा लाया गया। दोपहर करीब एक बजे जैसे ही एंबुलेंस शाहगंज के चाणक्यपुरी पहुंची, परिजनों में कोहराम मच गया। आसपास के लोग भी जमा हो गए। लोगों ने इंजीनियर की पत्नी को किसी तरह संभाला।
यह भी पढ़ें

UP Rain alert: बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड बारिश IMD अलर्ट, अगले 48 घंटे में इन 15 जिलों टूट कर बरसेंगे बादल

कैबिनेट मंत्री भी पहुंचे आगरा

कैबिनेट मंत्री योगेंद्र उपाध्याय भी पहुंच गए थे। अंजुलता ने बताया कि चीन सरकार ने कोई सहयोग नहीं किया। पति का पार्थिव शरीर आने में 25 दिन लग गए। कंपनी ने पोस्टमार्टम नहीं कराया। वह जब गए थे तब पूरी तरह से फिट थे। हर बार जाने से पहले मेडिकल कराया जाता था। फिर ऐसा क्या हुआ जो उनकी मौत हो गई। परिवार के करीबी सुरेंद्र अरेला ने बताया कि कागजी प्रक्रिया पूरी होने में काफी समय लगा।

Hindi News/ Agra / मौत के 26वें दिन अपनी मिट्टी में इंजीनियर का अंतिम संस्कार, पत्नी बोलीं- मैंने तुम्हे सलामत भेजा था, ये क्या हो गया

ट्रेंडिंग वीडियो