उत्तर प्रदेश के 20 उद्यमी, जिनसे ले सकते हैं आगे बढ़ने की सीख

ये उद्यमी उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास में योगदान दे रहे हैं। साथ ही रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं।

By: Bhanu Pratap

Updated: 03 Jan 2020, 05:59 PM IST

आगरा। वर्ष 2019 विदा हो चुका है। वर्ष 2020 का स्वागत अभी तक हो रहा है। 2019 ने बहुत से अनुभव दिए हैं। कई सारी हस्तियों के नाम चर्चा में रहे। ऐसे में हम बात करने जा रहे हैं उत्तर प्रदेश के उन 20 उद्यमियों की, जिनसे आप आगे बढ़ने की सीख ले सकते हैं। ऐसे उद्यमी, जिन्होंने जमीनी स्तर से काम शुरू किया और आज बुलंदियों को छू रहे हैं। उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास में योगदान दे रहे हैं। साथ ही रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं।

1. यदुपति सिंहानिया

उत्तर प्रदेश के कानपुर का नाम पूरी दुनिया में रोशन करने वाले जाने-माने उद्योगपति और जेके ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक यदुपति सिंहानिया को बिजनेस टुडे बेस्ट सीईओ-सीमेंट पुरस्कार का सम्मान मिल चुका है। उनकी संपत्ति 4900 करोड़ रुपए है।

2. मुरलीधर ज्ञानचंदानी

लगभग 30 साल पहले छोटा सा बिजनेस शुरू करने वाला कानपुर के मुरलीधर ज्ञानचंदानी आज दुनिया की बड़ी कंपनियों को टक्कर दे रहे हैं। इंडस्ट्रियलिस्ट मुरलीधर ज्ञानचंदानी और उनके छोटे भाई बिमल ज्ञानचंदानी घड़ी समूह के मालिक हैं। फोर्ब्स के मुताबिक दोनों भाई संयुक्त रूप से 1.60 अरब डॉलर (11,700 करोड़ रुपए) की संपत्ति के मालिक हैं। फोर्ब्स ने देश के 100 सबसे अमीर उद्योगपतियों में दोनों को 75वें स्थान पर रखा है। उन्हें पहली बार वर्ष 2013 में इस लिस्ट में जगह मिली थी।

3. उदय देसाई

कानपुर के हीरा कारोबारी उदय देसाई, उनके बेटे सुजय देसाई और सुनील वर्मा से भी आप सीख ले सकते हैं। तीनों की संपत्ति 5800 करोड़ रुपए है। हालांकि उदय देसाई बीच में काफी मुश्किलों में फंसे रहे। लेकिन एक सफल व्यवसाई के रूप में उनकी पूरे देश में अलग ही पहचान है।

4. सुमित जैन

सुमित जैन सॉफ्टवेयर इंजीनियर और इंटरनेट उद्यमी हैं। उन्होंने 2007 में संपत्ति चाहने वालों के लिए ऑनलाइन रियल एस्टेट पोर्टल कॉमनफ्लोर डॉट कॉम शुरू किया। इससे पहले, वह ओरेकल के साथ काम करते थे। सुमित उत्तर प्रदेश के एक छोटे से शहर खतौली में जन्मे और पले-बढ़े। सुमित के पिता की एक दुकान थी जहाँ उन्होंने भवन निर्माण उत्पाद बेचे थे।

5. कुशल पाल सिंह

कुशल पाल सिंह अरबपति रियल एस्टेट डेवलपर हैं और रियल एस्टेट डेवलपर डीएलएफ लिमिटेड के अध्यक्ष और सीईओ हैं। dlf के पास गुरुग्राम में लगभग 3,000 एकड़ (12 किमी 2) में 10,255 एकड़ (42 किमी 2) का अनुमानित भूमि है, जिसे DLF सिटी कहा जाता है। फोर्ब्स 2017 में एशिया के 50 सबसे अमीर लोगों के अनुसार सिंह की व्यक्तिगत संपत्ति 6.1 बिलियन डॉलर आंकी गई। केपी सिंह का जन्म 15 नवंबर 1931 को बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश में हुआ था। उनके पिता, चौधरी मुख्तार सिंह, बुलंदशहर के एक प्रतिष्ठित वकील थे।

Investment

6. श्यामा चरण गुप्ता

श्यामा चरण गुप्ता राजनीतिज्ञ, उद्यमी और पूर्व संसद सदस्य हैं। 1973 में उन्होंने श्यामा ग्रुप ऑफ़ कंपनीज़ की स्थापना की। श्यामा चरण गुप्ता का जन्म उन्नाव, डीह, जिला चित्रकूट उत्तर प्रदेश में 9 फरवरी, 1945 को हुआ था। वे पास के गाँव मानिकपुर में हाई स्कूल तक पढ़े थे, इलाहाबाद से इंटरमीडिएट पूरा किया।

7. विनोद गुप्ता

विनोद गुप्ता का जन्म जुलाई, 1946 में रामपुर मनिहारन, सहारनपुर, उत्तर प्रदेश में हुआ। विनोद गुप्ता भारतीय मूल के अमेरिकी व्यापारी, निवेशक हैं। वह पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) और infoGROUP के चेयरमैन हैं। गुप्ता के नेतृत्व में, InfoGROUP ने 45 से अधिक कंपनियों का अधिग्रहण किया।

8. विजय शेखर शर्मा

विजय शेखर शर्मा का जन्म 08 जुलाई 1978 को अलीगढ़, उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था। वह एक भारतीय उद्यमी हैं, जो मोबाइल भुगतान कंपनी पेटीएम के संस्थापक हैं। वह भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति हैं। वह पेटीएम और वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड के संस्थापक और सीईओ हैं। उनके पास $ 1.47 यूएसडी का शुद्ध मूल्य है।

9. सुब्रत रॉय

सुब्रत रॉय एक भारतीय व्यापारी हैं और सहारा इंडिया परिवर के प्रबंध कार्यकर्ता और अध्यक्ष हैं। उनका जन्म 10 जून 1948 को बिहार के अररिया में हुआ था। उन्होंने कोलकाता के होली चाइल्ड स्कूल से स्कूली शिक्षा पूरी की और सरकारी तकनीकी संस्थान, गोरखपुर से अपनी मैकेनिकल इंजीनियरिंग पूरी की। सुब्रत रॉय ने गोरखपुर में अपना पहला व्यवसाय शुरू किया और फिर 1978 में कंपनी की स्थापना की और अब रियल एस्टेट, शिक्षा, पर्यटन, मनोरंजन, वित्तीय सेवाओं, आतिथ्य और मीडिया में रुचि रखते हैं। 2012 में उन्हें भारत के 10 सबसे शक्तिशाली लोगों में नामित किया गया था। सहारा समूह पूरे भारत में 5,000 से अधिक प्रतिष्ठान संचालित करता है।

10. मनोज भार्गव

मनोज भार्गव एक भारतीय मूल के अमेरिकी व्यवसायी हैं जिन्होंने अपने महान व्यावसायिक विचारों के माध्यम से सफलता प्राप्त की। वह इनोवेशन वेंचर्स एलएलसी कंपनी के सीईओ और संस्थापक हैं जो 5 घंटे का एनर्जी ड्रिंक तैयार करता है। उनका जन्म 1953 में लखनऊ में हुआ था और उन्होंने प्रिंसटन विश्वविद्यालय से अपनी शिक्षा पूरी की। वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में रह रहे हैं। "मनोज भार्गव" उत्तर प्रदेश के सबसे धनी व्यक्ति हैं, जिनकी कुल संपत्ति 4 बिलियन डॉलर है, वे एक महान परोपकारी व्यक्ति हैं, जिन्होंने उत्तराखंड के विकास के लिए 500 करोड़ रुपये दान में दिए।

Investment

11. बोनी कपूर

बोनी कपूर एक सबसे सफल भारतीय फिल्म निर्माता हैं जिन्हें उत्तर प्रदेश के सबसे अमीर व्यक्ति के रूप में भी जाना जाता है। उन्होंने बॉलीवुड में मिस्टर इंडिया, नो एंट्री, जुदाई और वांटेड जैसी कई ब्लॉक बस्टर फिल्मों का निर्माण किया है जो उनके जीवन की महान उपलब्धियां हैं। उनका जन्म 11 नवंबर 1955 को उत्तर प्रदेश के मेरठ में हुआ था। उनके बच्चे अर्जुन कपूर, जान्हवी कपूर, ख़ुशी कपूर, अंशुला कपूर हैं।

12. प्रशांत पाठक

प्रशांत पाठक एक प्रसिद्ध इंडो कैनेडियन निवेशक और व्यवसायी हैं, जो लखनऊ से ताल्लुक रखते हैं। उन्होंने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की पढ़ाई पूरी की। वह रीचमनहॉअर कैपिटल पार्टनर के प्रबंध भागीदार हैं। वह लखनऊ के सबसे अमीर व्यक्ति में से एक हैं। पाठक टोरंटो, ओंटारियो, कनाडा का एक निवास स्थान है।

13. अतुल सिंह

अतुल सिंह एक भारतीय वकील, राजनीतिक वैज्ञानिक, प्रोफेसर, लेखक और फेयर ऑब्जर्वर एलएलसी के संस्थापक हैं। उन्हें उत्तेजक शिक्षक भी माना जाता है जो विभिन्न सम्मानित संस्थानों और विश्वविद्यालयों में भाषण देते हैं। अतुल सिंह एक प्रसिद्ध मीडिया व्यक्ति हैं जो बहस और चर्चा में पैनलिस्ट और विशेषज्ञ के रूप में भाग लेते हैं।

14. राकेश जैन

राकेश जैन एक प्रोफेसर हैं और ई.एल. मैसाचुसेट्स जनरल अस्पताल में ट्यूमर जीव विज्ञान के लिए स्टील प्रयोगशालाएं। राकेश जैन जड़ से भारतीय हैं, वे दुनिया के सबसे बौद्धिक व्यक्तियों में से एक हैं। राकेश जैन ने अपने कीमती करियर में, एक दर्जन से अधिक विभिन्न विषयों के 200 से अधिक स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों का उल्लेख किया।

15.पूरन डावर

पूरन डावर आगरा के मशहूर जूता उद्यमी हैं। एफमेक के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। जूता व्यवसाय में पूरन डावर अलग पहचान रखते हैं, इसके अलावा उनके द्वारा समाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जाता है। पूरन डावर मूल रूप से आगरा के रहने वाले हैं। डावर शूज के नाम से उनका व्यवसाय है। उनकी ख्याति समाजसेवी के रूप में भी है। आगरा से भुखमरी दूर करने का अभियान छेड़ा है, जिसे पूरे देश में चलाने की योजना है। प्रतिदिन 2500 लोगों को 10 रुपये में भरपेट भोजन करया जाता है।

Uttar Pradesh

16. नजीर अहमद

नजीर अहमद आगरा के मशहूर जूता उद्यमी हैं। उनके द्वारा समाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जाता है। नजीर अहमद आगरा के रहने वाले हैं और यहीं पर शू फैकट्री चलाते हैं। उनकी कुल संपत्ति 211 करोड़ रुपये है। वे राजनीति में भी रुचि रखते हैं। कई चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी है।

17. प्रदीप जैन

पीएनसी ग्रुप के मालिक प्रदीप जैन। तीन भाइयों के नाम से पीएनसी ग्रुप की शुरुआत की गई। प्रदीप जैन, नवीन जैन और चक्रेश जैन। नवीन जैन आगरा के मेयर हैं। पीएनसी ग्रुप द्वारा देशभर में फ्लाईओवर का निर्माण कार्य कराया जाता है। इसके अलावा विभिन्न टोल टैक्स की वसूली का कार्य भी पीएनसी ग्रुप के पास रहता है। प्रदीप जैन 608 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक है।

18. बिमल ज्ञानचंदानी (आरएसपीएल)

लगभग 30 साल पहले छोटा सा बिजनेस शुरू करने वाले कानपुर के मुरलीधर ज्ञानचंदानी आज दुनिया की बड़ी कंपनियों को टक्कर दे रहे हैं। इंडस्ट्रियलिस्ट मुरलीधर ज्ञानचंदानी और उनके छोटे भाई बिमल ज्ञानचंदानी घड़ी समूह के मालिक हैं। फोर्ब्स के मुताबिक दोनों भाई संयुक्त रूप से 1.60 अरब डॉलर (11,700 करोड़ रुपए) की संपत्ति के मालिक हैं।

19. मुहम्मद काज़िम अली खान

काजिम अली खान का पूरा नाम नवाब सैय्यद मुहम्मद शरीफ अली खान बहादुर है जो एक भारतीय राजनीतिज्ञ और उद्यमी है। उत्तर प्रदेश की 16 वीं विधानसभा के सदस्य भी हैं। वह यूपी के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। वह शीर्ष 10 करोड़पतियों में गिने जाने वाले 56.89 करोड़ के मालिक हैं। उन्होंने कोलंबिया विश्वविद्यालय से अपनी शिक्षा पूरी की और अब्दुल्ला आज़म खान द्वारा सफल रहे। उनका जन्म 16 अक्टूबर 1960 को रामपुर जिला, उत्तर प्रदेश में हुआ था।

20. जिमी शिरगिल

जसजीत सिंह गिल को जिमी शिरगिल के नाम से जाना जाता है। वह एक भारतीय अभिनेता और फिल्म निर्माता हैं। शीरगिल ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 1996 में डेब्यू फिल्म माचिस से की। उन्होंने पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। उनका जन्म 3 दिसंबर 1972 को देओखिया गाँव, सरदारनगर, गोरखपुर जिला, उत्तर प्रदेश में हुआ था। 2001 में उन्होंने प्रियंका पुरी के साथ शादी की।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned