चार महीने बाद भी खत्म नहीं हुई समस्या, मोबाइल में अब भी अपने आप सेव हो रहा है UIDAI नंबर

चार महीने बाद भी खत्म नहीं हुई समस्या, मोबाइल में अब भी अपने आप सेव हो रहा है UIDAI नंबर
uidai

suchita mishra | Publish: Jan, 03 2019 01:45:32 PM (IST) | Updated: Jan, 03 2019 02:00:16 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा में रहने वाले तमाम लोगों के मोबाइल में हाल ही ये नंबर सेव हुआ है।

आगरा। वर्ष 2018 में अगस्त के महीने में तमाम लोगों की शिकायतें आयी थीं कि उनके एन्ड्रॉयड फोन की कॉन्टेक्ट लिस्ट में UIDAI के नाम से एक नंबर (1800-300-1947) बगैर उनकी स्वीकृति के सेव हो रहा है। इसे आधार कार्ड का हेल्पलाइन नंबर बताया जा रहा था। कुछ समय तक ये चर्चा काफी जोरों पर रही और धीरे धीरे खत्म हो गई। लेकिन आपको बता दें कि ये समस्या अब भी समाप्त नहीं हुई है। आगरा में रहने वाले तमाम लोगों के मोबाइल में हाल ही ये नंबर सेव हुआ है।

हालांकि अगस्त में जब नंबर फोन में नंबर अपने आप सेव होने की बात सामने आयी थी तो UIDAI ने बयान जारी कर 1800-300-1947 नंबर को गलत बताया था। साथ ही कहा था कि उसने किसी भी फोन ऑपरेटर या निर्माता को ऐसी इजाज़त नहीं दी है। UIDAI के बयान के मुताबिक आधार का वैध हेल्पलाइन नंबर सिर्फ 1947 है जो दो वर्षों से चालू है। जबकि 1800-300-1947 नंबर पुराना नंबर है जो काफी समय से वैध नहीं है।

ऐसे में ये प्रश्न और भी गंभीर हो जाता है कि आखिर ये नंबर यूजर के मोबाइल में बगैर उसकी इजाजत के सेव कैसे हुआ? इस मामले में आगरा के गौरी शंकर का कहना है कि उन्होंने दो दिन पहले ही अपने मोबाइल को फॉरमेट किया है, उसके बाद उनके फोन में UIDAI के नाम से ये नंबर (1800-300-1947) सेव हो गया। गौरी शंकर का कहना है कि अगर कोई हमारी इजाजत के बगैर हमारे फोन में नंबर सेव कर सकता है तो हमारी गतिविधियों पर भी आसानी से निगरानी रख सकता है।

वहीं अभिषेक सक्सेना ने भी हाल ही अपने मोबाइल में ये नंबर सेव होने की पुष्टि की। साथ ही इसे सुरक्षा में एक बड़ी सेंध बताया। अभिषेक का कहना है कि नंबर बेशक पुराना हो, लेकिन ये किसी के फोन में अपने आप सेव क्यों हो रहा है, कौन ऐसा कर रहा है, इसकी तह तक जाना जरूरी है। इससे व्यक्ति का निजी डाटा चोरी हो सकता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned