मरने के बाद जिंदा हुई 90 वर्षीय विरमा देवी, बताया मौत के बाद क्या होता है, ऐसी सच्चाई जिसे वैज्ञानिक भी नहीं खोज पाये

घर में रामायण का पाठ शुरू हो गया, फिर जो हुआ हैरान कर देने वाला था। वृद्धा जीवत हो गई। इसके बाद महिला ने बताया मौत का दिल दहला देने वाला सत्य।

आगरा। मौत वो सच्चाई है, जिसका रहस्य आज तक कोई पता नहीं लगा सका। वैज्ञानिक भी इसकी खोज में लगे हुए हैं कि आखिर मौत के बाद होता क्या है। आगरा में एक अनोखी घटना हुई। यहां एक 90 वर्षीय महिला की मौत हो गई। उसकी मौत के बाद पूरा परिवार शोक में डूबा हुआ था। वृद्धा के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी, तभी वृद्धा के शव में हलचल होती है। ये देख परिजन हैरान रह गए। घर में रामायण का पाठ शुरू हो गया, फिर जो हुआ हैरान कर देने वाला था। वृद्धा जीवत हो गई। इसके बाद महिला ने बताया मौत का दिल दहला देने वाला सत्य।

यहां का है मामला
आगरा से करीब 80 किलोमीटर दूर बाह क्षेत्र के मढ़ेपुरा गांव में 90 साल की वृद्ध महिला विरमा देवी का निधन हो गया। उनके निधन होने के बाद पूरा परिवार शोक में डूबा हुआ था, तो आस पड़ोसियों के साथ रिश्तेदार भी परिवार को इस दुख की घड़ी में ढांढस बधांने पहुंचे हुए थे। वृद्धा के पुत्र रामकिशोर, रोशन लाल, राजवीर और ग्रामीण शवयात्रा की तैयारी कर रहे थे। उन्हें अंतिम यात्रा के लिए ले जाते इससे पहले विरमा देवी की सांसें लौट आईं।

टूट गया सन्नाटा
वृद्धा विरमा देवी की सांसें लौटते ही, परिवार वाले हैरान रह गए। सभी उनके पास एकत्र हो गए। वृद्धा ने उठते हुआ कहा कि उनकी पीठ में दर्द हो रहा है। विरमा देवी उठी तो घर में मातम का सन्नाटा टूट गया और परिवार में खुशियां छा गईं। विरमा देवी के उठने के बाद घर के सदस्य उनकी सेवा में जुट गए। बहूएं उनकी सेवा करने लगी। परिवार में ये चमत्कार की खबर से रामायण और गीता का पाठ शुरू हो गया। गांव में ये घटना कौतूहल का विषय बन गई। आस पास के गांवों के लोग विरमा देवी को देखने आने लगे। बेटों ने मां के पुर्नजीवित होने पर उन्हें गीता और रामायण का पाठ सुना है।

Show More
धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned