जिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराने आया युवक पुलिस को दे गया गच्चा

अवागढ़ निवासी युवक छेड़छाड़ के आरोप में आया था पुलिस कस्टडी में मेडिकल परीक्षण कराने

By:

Published: 24 Jul 2018, 04:03 PM IST

आगरा। पुलिस की निष्क्रियता एक बार फिर से सामने आई। छेड़छाड़ का आरोपी पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। युवक के भागते ही पुलिसकर्मियों के पसीने छूट गए। पीछा किया लेकिन, युवक पुलिस के हाथ नहीं चढ़ा। लेकिन, जिला अस्पताल में पार्किंग स्टैंड पर काम करने वाले कर्मचारियों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। तब जाकर पुलिस की जान में जान आई। पुलिस ने युवक का मेडिकल कराया और वापस साथ ले गई। लेकिन, पुलिस की निष्क्रियता की कलई एक बार खुल गई।

पीछाकर उसे पकड़ लिया

बताया गया है कि एटा जनपद के अवागढ़ के मोहल्ला बनियान निवासी राहुल पुत्र राकेश ऑटो चलता है। मंगलवार को शराब के नशे में थाना सदर निवासी एक महिला के घर में घुस गया था। आरोपी महिला से छेड़छाड़ कर रहा था। इस पर महिला ने शोर मचाया। शोर शराबा सुनकर स्थानीय लोग मौके पर आ गए। लोगों को देख वह भागने लगा लेकिन, उसका पीछाकर उसे पकड़ लिया। लोगों ने उसकी पिटाई भी लगा दी थी। इसके बाद उसे थाना सदर ले गए और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस राहुल के शरीर पर आई चोटों का डॉक्टरी परीक्षण कराने के लिए जिला अस्पताल ले गई।

एक होेमगार्ड और एक पुलिसकर्मी था

बताया गया है कि उसके साथ एक होेमगार्ड और एक पुलिसकर्मी था। लेकिन, युवक को हथकड़ी नहीं लगी थी। मंगलवार को जिला अस्पताल में भीड़ लगी हुई थी। इसका फायदा उठाकर आरोपी जिला अस्पताल से भाग गया। राहुल के भाग जाने की जानकारी दोनों पुलिसकर्मियों को हुई तो वे घबरा गए और उसे पकड़ने के लिए पीछे भागे, लेकिन वह जिला अस्पताल से बाहर निकल गया था। उसे भागते हुए वहां वाहन पार्किंग पर खड़े लोगों ने देख लिया। वे उसके पीछा भागने लगे और छीपीटोला चौराहे पर पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

आरोपी के खिलाफ नहीं लिखा था मुकदमा
थाना प्रभारी निरीक्षक सदर ने बताया राहुल के खिलाफ अभी मुकदमा दर्ज नहीं कराया था। इसलिए उसे हथकड़ी में नहीं ले गए थे। अभी तक राहुल के खिलाफ किसी ने तहरीर नहीं दी है, इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। अगर तहरीर आती है तो कार्रवाई की जाएगी।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned