ट्रेन में छूटी दस लाख मशीनें यात्री को सौंपी

रेलवे सुरक्षा बल

By: Pushpendra Rajput

Updated: 13 Oct 2018, 10:51 PM IST

राजकोट. रेलवे सुरक्षा बल-ओखा ने ट्रेन में रेलयात्री छूटी दस लाख रुपए की मशीनें सौंपी।
ओखा रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को सौराष्ट्र मेल ट्रेन पहुंची थी, जहां आरपीएफ टीम को जांच के दौरान वहां दो बॉक्स मिले। ये बॉक्स इसी ट्रेन के बी-2 कोच में बर्थ नंबर 41 के नीचे रखे थे। बॉक्स की तफ्तीश चल रही थी तभी ओखा स्टेशन पर एक यात्री कार्तिकेयन सेंथिल कुमार (24) पहुंंचा, जो एक निजी कम्पनी में नौकरी करता है। पूछताछ में उसने बताया कि वह ट्रेन संख्या 22945 के बी-2 कोच में अपने सुपरवाइजर के साथ अहमदाबाद से ओखा तक आ रहा था। राजकोट रेलवे स्टेशन पर वह नाश्ता लेने उतरा था तभी ट्रेन छूट गई । बाद में जनरल टिकट लेकर वह एर्नाकुलम ट्रेन से यहां पहुंचा। बाद में वहां आरपीएफ के सहायक उप निरीक्षक भादा भाई ने सम्बंधित पूछताछ की। कागजी कार्रवाई के बाद आरपीएफ ने उस यात्री को दोनों (मल्टी पेरामीटर वॉटर क्वालिटी मशीन) मशीनें सौंप दी। इन मशीनों की कीमत 10 लाख आंकी गई है।

ट्रेन में छूटा रेलयात्री का बैग लौटाया
रेलवे सुरक्षा बल ने ट्रेन में छूटा रेलयात्री का बैग उसे सौंपा। सोमनाथ-ओखा एक्सप्रेस ट्रेन की ओखा स्टेशन आरपीएफ के हेड कांस्टेबल जांच कर रहे थे भी एस-1 कोच के बर्थ संख्या 40 पर बैग एक बैग मिला। बैग की तलाशी लेने पर उसमें एक पर्स मिला, जिसमें मिलने मोबाइल नंबर से उस व्यक्ति का संपर्क किया गया। बाद में यात्री धनंजय भामाणी को ओखा स्टेशन पर आरपीएफ थाने बुलाकर सौंप दिया। वह जामनगर से मीठापुर स्टेशन आ रहा था। रास्ते में नींद आ गई और वह ओखा पहुंच गया था। राजकोट के मंडल रेल प्रबंधक पी बी निनावे तथा मंडल सुरक्षा आयुक्त मिथुन सोनी ने आरपीएफ स्टाफ की इस कार्रवाई की सराहना की।
महिला यात्री की जान
अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर चलती ट्रेन से उतरते समय प्लेटफार्म के बीच फंसी एक महिला यात्री की जान रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) जवान की सतर्कता से बच गई।
अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर पांच अक्टूबर को ट्रेन संख्या 17623 पहुंची थी तभी चलती ट्रेन से उतरते समय एक महिला यात्री प्लेटफार्म और ट्रेन के बीच गिर गई। इसी बीच प्लेटफार्म -एक पर गश्त लगा रहे हेड कांस्टेबल रविकांत देशमुख ने सतर्कता बरतते हुए बाहर खींच लिया, जिससे उसकी जान बची गई। घबराई महिला ने अपना नाम और पता नहीं बता सकी। बाद में हेड कांस्टेबल रविकांत ट्रेन चेक करने वहां से चले गए। यह घटना की सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई। आरपीएफ -अहमदाबाद के थाना निरीक्षक ग्रेसियस फर्नांडीज ने इसके लिए देशमुख की सराहना की।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned