१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां

144th jagannath Rath Yatra, Ahmedabad Rathyatra, CM Vijay rupani, Deputy CM, pahind vidhi, Curfew, security,

By: nagendra singh rathore

Published: 12 Jul 2021, 08:38 PM IST

अहमदाबाद. भगवान जगन्नाथ की 144वीं रथयात्रा कोरोना महामारी के बीच सोमवार को शहर में निकली। कई मायनों में यह परंपरागत रथयात्रा से अलग रही। इस वर्ष की रथयात्रा की झलकियां।

गृहराज्यमंत्री ने सरसपुर में किया महंत का स्वागत
सरसपुर स्थित ननिहाल में भगवान की रथयात्रा के पहुंचने पर जगन्नाथ मंदिर के महंत दिलीपदास महाराज और न्यासी महेन्द्र का गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा ने हाथ जोड़कर स्वागत किया।

सड़कों पर दिखे सिर्फ सुरक्षा कर्मी
रथयात्रा के 19 किलोमीटर लंबे रूट पर कोरोना महामारी के चलते भीड़ इकट्ठी ना हो इसलिए कफ्र्यू लगा दिया गया था। जिसके चलते सड़कों पर सिर्फ सुरक्षा कर्मचारी ही नजर आ रहे थे।

१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां

ब्रिजों पर पसरा रहा सन्नाटा
शहर के पूर्वी हिस्से को पश्चिमी हिस्से से जोडऩे वाले साबरमती नदी पर बने कई ब्रिज रथयात्रा के चलतेसोमवार को सुबह से ही बंद रहे, जिसके चलते इन ब्रिजों पर सन्नाटा पसरा नजर आया। अमूमन ये ब्रिज वाहनों की आवाजाही से गुलजार रहते हैं। शहर के एलिसब्रिज पर पसरा सन्नाटा।

१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां

बैरिकेड के बाहर घर से ही दर्शन
कोरोना महामारी के कारण लगाए गए कफ्र्यू के मद्देनजर किसी भी भक्त और श्रद्धालु को भगवान के रथ के पास आकर दर्शन की छूट नहीं थी। शहर में कई ऐसी जगहें हैं जहां सड़क के किनारे से होकर भगवान गुजरे लेकिन भक्त दर्शन नहीं कर पाए। ऐसे में भक्तों ने बैरिकेड के बाहर अपने घर से ही भगवान के हाथ जोड़कर दर्शनों का लाभ लिया।

१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां

बच्चों ने घर से टीवी पर किए दर्शन
कोरोना के चलते इस वर्ष रास्ते पर रथ के पास जाकर लोगों के भगवान के दर्शन करने पर रोक थी। जिसके चलते शहर के ज्यादातर लोगों ने घरों में रहकर टीवी पर ही भगवान जगन्नाथ के दर्शन किए।

१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां

आईपीएस अधिकारी चौधरी ने भी खींचा रथ
रथयात्रा के दौरान भगवान के रथों को यूं तो खलासी ही खींचते हैं। इसके लिए एक रथ पर 20 खलासियों की मंजूरी दी गई थी। इस बीच एक जगह रथयात्रा की ड्यूटी में तैनात शहर जेसीपी आईपीएस अधिकारी अजय चौधरी ने भी रथ को खींचा।

ननिहाल में भात में चढ़े वस्त्र और आभूषण
सरसपुर स्थित ननिहाल में भगवान जगन्नाथ के बहन सुभद्रा और बड़े भाई बलदाऊ के साथ पहुंचने पर उन्हें भात (मामेरा) रस्म में वस्त्र और आभूषण चढ़ाए गए।

१४४वीं जगन्नाथ रथयात्रा की झलकियां
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned