1971 War: 71 के युद्ध में भारत की जीत की याद में स्वर्णिम विजय वर्ष साइक्लोथॉन का आगाज

1971 war, IIndo-Pak war, Cyclothon, Gujarat, Rajasthan, Konark Corps

By: Uday Kumar Patel

Updated: 26 Nov 2020, 10:36 PM IST

अहमदाबाद. भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में हुए युद्ध में भारतीय सशस्त्र सेना के विजय की स्वर्ण जयंती के अवसर पर भारतीय सेना के कोणार्क कोर की ओर से गुरूवार को स्वर्णिम विजय वर्ष साइक्लोथॉन का आगाज किया गया। 1965 और 1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध में हिस्सा लेने वाले 87 वर्षीय पूर्व योद्धा गुमान सिंह झाला ने साइकिल रैली को हरी झंडी दिखाई। लखपत में आउटपोस्ट के निकट आरंभ हुई यह रैली पहले चरण में 200 किलोमीटर का सफर करते हुए हाजीपीर, खावडा होते हुए भुज पहुंची। 1971 किलोमीटर लंबी साइकिल रैली गुजरात और राजस्थान के 1971 किलोमीटर क्षेत्र में जाएगी।

इस अवसर पर भुज के बाल्ड इगल ब्रिगेड में पूर्व सैनिकों के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में भुज के पास माधापर की वीर नारी सोनल एम गढ़वी का सम्मान किया गया। उनके शहीद पति नायक मानसिंह राजदे गढ़वी ने वर्ष 2004 में ऑपरेशन रक्षक के दौरान देश की सेवा में जान न्यौछावर कर दिया था।
3 दिसम्बर 2020 को भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध में भारतीय सेना की जीत का 50 वर्ष पूरा हो रहा है।
भारतीय सशस्त्र दल और अद्र्ध सैनिक बलों के जवानों में साहस की भावना जगाने के उद्देश्य से कोणार्क कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल अरुण पूरी की ओर से साइकिल रैली की परिकल्पना की गई। इस रैली के मार्फत ग्रामीण लोगों में कोरोना के प्रति जनजागृति फैलाई जाएगी। इसका मूलभूत थीम सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क सेनेटाइजेशन रहेगा। इस रैली के माध्यम से भूतपूर्व सैनिकों, युद्ध में शहीद हुए जवानों के परिजनों, दिव्यांग जनों तक पहुंचेगी। इस दौरान 1948, 1965 और 1971 के युद्ध के जवानों और वीर नारियों को सम्मानित भी किया जाएगा। इस रैली में वायु सेना, नौ सेना, कोस्ट गार्ड, बीएसएफ के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned