script20 thousand Himo dialysis done free of cost in GG hospital of Jamnagar | जामनगर के जी.जी. अस्पताल में नि:शुल्क किए 20 हजार हिमो डायलिसिस | Patrika News

जामनगर के जी.जी. अस्पताल में नि:शुल्क किए 20 हजार हिमो डायलिसिस

कोरोनाकाल के पौने दो वर्ष पूरे : सौराष्ट्र के सबसे बड़ा डायलिसिस विभाग में सुविधा

अहमदाबाद

Updated: December 22, 2021 11:27:47 pm

जामनगर. शहर में सौराष्ट्र के सबसे बड़े गुरु गोबिंद सिंह (जी.जी.) सरकारी अस्पताल में कोरोनाकाल में पौने दो वर्ष में 20 हजार से अधिक मरीजों का नि:शुल्क हिमो डायलिसिस किया गया है। इनमें पिछले वर्ष मार्च महीने में कोरोना की शुरुआत से दिसंबर तक 10,640 और इस वर्ष जनवरी से अब तक 9,800 मरीजों का हिमो डायलिसिस शामिल है।
अस्पताल की डायलिसिस यूनिट के प्रभारी धर्मेंद्र भट्ट के अनुसार डायलिसिस की एक मशीन से रोजाना करीब 30-35 और महीने में 850 मरीजों को नि:शुल्क हिमो डायलिसिस की सुविधा दी जा रही है। इनमें किडनी के गंभीर रोगों से ग्रस्त 120 मरीज शामिल हैं। गुजरात डायलिसिस कार्यक्रम के तहत जी.जी. अस्पताल में कार्यरत डायलिसिस विभाग में छह तकनीशियन, चार नर्सिंग कर्मचारी, छह नर्सिंग सहायक कार्यरत हैं। यहां सौराष्ट्र के मरीजों के लिए सेंट्रल लाइन प्रदान की जा रही है और अपने क्षेत्र में डायलिसिस सुविधा के लिए शेड्यूल की व्यवस्था भी की जा रही है। यहां की यूनिट खंभालिया, द्वारका, जामजोधपुर, पोरबंदर में तकनीकी आवश्यकताओं के लिए कर्मचारियों की सहायता भी करती है।
जामनगर के जी.जी. अस्पताल में नि:शुल्क किए 20 हजार हिमो डायलिसिस
जामनगर के जी.जी. अस्पताल में नि:शुल्क किए 20 हजार हिमो डायलिसिस
वर्ष 1988 में एक मशीन से शुरू हुई सुविधा, अब हैं 30 मशीनें

जी.जी. अस्पताल में वर्ष 1988 में डायलिसिस की सुविधा एक डायलिसिस मशीन से शुरू की गई थी, उसके बाद 3 मशीनों से रोजाना 9 मरीजों और वर्ष 2014 में 10 मशीनों से एक दिन में 30 मरीजों का का डायलिसिस किया जाता था। वर्ष 2018 में जी.जी. अस्पताल के नए भवन में हिमो डायलिसिस यूनिट को और 20 मशीनों के साथ आधुनिक बनाया गया।
कोरोना संक्रमितों के लिए की दो कॉटेज की व्यवस्था

कोरोनाकाल मेंं भी डायलिसिस विभाग निरंतर कार्यरत रहा। कोरोना संक्रमित 85 मरीजों को डायलिसिस की आवश्यकता थी, उनके लिए दो कॉटेज की व्यवस्था की गई और 225 डायलिसिस किए गए। जामनगर के अलावा सौराष्ट्र के देवभूमि द्वारका, जूनागढ़, मोरबी, पोरबंदर जिलों के मरीजों को भी कोरोनाकाल में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध करवाई गई।
तटीय क्षेत्र के लोगों में किडनी रोगियों की संख्या अधिक

डायलिसिस विभाग के अध्यक्ष डॉ. अजय तन्ना का कहना है कि सौराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोग सामान्य मैदानी इलाकों में रहने वाले लोगों की तुलना में कई बीमारियों से ग्रस्त हैं। इनमें पथरी, किडनी के अन्य रोग, पानी में रहने वाले क्षार के कारण दांत, किडनी व मूत्राशय के रोग अधिक होते हैं। अन्य क्षेत्रों के मुकाबले समुद्र तटीय क्षेत्र सौराष्ट्र के जिलों में किडनी की समस्या के पीडि़त रोगियों की संख्या अधिक है। इन्हें जी.जी. अस्पताल में सुविधा मिलने के कारण इलाज के लिए दूर नहीं जाना पड़ता है और वे एक ही स्थान पर नि:शुल्क मुफ्त और अच्छी गुणवत्ता का इलाज प्राप्त कर सकते हैं।
सप्ताह में दो-तीन बार भी होती है डायलिसिस की आवश्यकता

जी.जी. अस्पताल के डायलिसिस विभाग में सुविधाओं का विस्तार और आधुनिकीकरण का कार्य किया गया है। यहां उन रोगियों को तत्काल डायलिसिस सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाती है जिन्हें अक्सर अन्य उपचार के दौरान अल्पकालिक डायलिसिस की आवश्यकता होती है। इसके अलावा किडनी की गंभीर बीमारी के रोगियों को सप्ताह में दो-तीन बार डायलिसिस की आवश्यकता होती है, उन्हें भी डायलिसिस सेवा प्रदान की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.