नवनिर्मित किडनी अस्पताल में 20 हजार लीटर क्षमता का ऑक्सीजन टेंक कार्यरत

-अन्य एक अतिरिक्त टेंक का विकल्प

 

By: Omprakash Sharma

Published: 01 Dec 2020, 10:14 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना के मरीजों को लिए मंगलवार से मंजुश्री मिल परिसर में शुरू किए गए कोविड समर्पित हॉस्पिटल में 20 हजार लीटर क्षमता का ऑक्सीजन टेंक कार्यरत किया गया है। इसके अलावा इतनी ही क्षमता का एक टेंक अतिरिक्त विकल्प के रूप में रहेगा।
यह अस्पताल किडनी रोग संबंधित मरीजों के लिए तैयार किया गया है लेकिन फिलहाल कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखकर इसे कोविड अस्पताल में तब्दील कर दिया है। कोविड मरीजों के लिए उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल की ओर से मंगलवार को शुरू किया गया यह अस्पताल 10 लाख वर्ग फीट क्षेत्र में फैला है। इसमें 20 हजार लीटर लिक्विड ऑक्सीजन का टेंक उपलब्ध करवाया गया है, साथ ही विकल्प के तौर पर समान क्षमता का एक टेंक भी उपलब्ध रहेगा। साढ़े तीन सौ करोड के खर्च से तैयार नवनिर्मित अस्पताल में कोविड मरीजों के उपचार के लिए तीसरी और चौथी मंजिल पर 336 बेड उलब्ध करवाए गए हैं। इसके अलावा सातवीं मंजिल पर वेंटीलेटर के साथ 82 बेड की व्यवस्था भी की गई है। राज्य सरकार ने इस अस्पताल में 150 मल्टी पर्पज मॉनिटर भी कार्यरत किए हैं।

चिकित्सा समेत विविध विभागों के कर्मचारी नियुक्त

राज्य सरकारकी ओर से कोरोना के मरीजों के उपचार के लिए इस अस्पताल में चिकित्सा समेत विविध विभागों के कर्मचारी नियुक्त कर दिए गए हैं। इनमें 28 पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट ) चिकित्सकों के अलावा 60 एमबीबीएस चिकित्सक नियुक्त किए हैं। जबकि नर्सिंग स्टाफ के 175 कर्मचारी और साढ़े तीन सौ सफाई कर्मचारी भी लगाए गए हैं। अस्पताल में सीटी स्कैन और डायलिसिस जैसी सुविधाएं भी तत्काल उपलब्ध करवाई जाएंगी।
मेडिसिटी परिसर में कोरोना के मरीजों के लिए 2100 बेड की व्यवस्था
अमहदाबाद के मेडिसिटी (सिविल अस्पताल) परिसर में अब कोरोना के मरीजों के उपचार के लिए 2100 बेड उपलब्ध हो गए हैं। फिलहाल कैंपस के 1200 बेड अस्पताल में 661 मरीज उपचाराधीन हैं। इस अस्पताल में अभी 510 बेड खाली हैं। इसके अलावा कैंंपस में ही स्थित जीसीआरआई (कैंसर अस्पताल) में 145 बेड में से फिलहाल 23 पर कोरोना के मरीज उपचाराधीन हैं। जबकि सिविल कैंपस के आईकेडीआरसी में 135 बेड में से 62 और यूएन मेहता के कोविड अस्पताल में 179 बेड में से पांच बेड पर कोरोना के मरीज उपचाराधीन हैं। इस तरह से सिविल कैंपस में ही फिलहाल 600 बेड उपलब्ध हैं। मेडिसिटी में कुल 1720 बेड हैं। इसके अलावा नवनिर्मित किडनी अस्पताल में भी बेड खाली हैं।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned