प्रदेशभर में गांजे की हेराफेरी का पर्दाफाश

2100 किलो गांजा बरामद, तीन आरोपी गिरफ्तार

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 27 Sep 2018, 03:01 PM IST

राजकोट/आणंद. प्रदेशभर गांजे की हेराफेरी का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
राजकोट पुलिस आयुक्त मनोज अग्रवाल ने बुधवार को बताया कि आरोपियों में मुख्य आरोपी व सूरत निवासी विजय अशोख कुलपति उर्फ विजय भैया, चेतनसिंह उर्फ राजभा भूपेन्द्रसिंह झाला एवं खंभाळिया निवासी मुकेशगिरी गोस्वामी शामिल हैं। स्थल से 2016 किलो गांजा बरामद किया है।
पुलिस आयुक्त अग्रवाल ने बताया कि विजय एवं राजभा ओडिशा व आंध्रप्रदेश से गांजा मंगाते थे और सौराष्ट्र में पहुंचाने के लिए मुकेशगिरी का सहयोग लेते थे। आणंद जिले के डाली गांव से राजकोट में गांजा पहुंचाने की सूचना पर पुलिस ने डाली में छापा मारा और चेतन को गिरफ्तार कर ६०० किलो गांजा बरामद किया है।
राजकोट के जंगलेश्वर में झांडू का व्यवसाय करने वाली मदीना सहित चार जनों को ६५७ किलो गांजे के साथ पकड़ा था। उनकी पूछताछ में सामने आया हा कि मुख्य आरोपी सूरत का है तो ट्रक से गांजे को पहुंचाया था। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर राजकोट के सुखरामनगर निवासी घनश्यामगिरी गोसाई को गिरफ्तार कर पूछताछ की, जिसमें आणंद के डाली गांव निवासी विजय गांजा पहुंचाने के लिए आता होने की जानकारी मिली। क्राइम ब्रांच ने अलग-अलग टीमें बनाकर विजय व मुकेश को राजकोट के निकट से निकट से गिरफ्तार किया, जबकि चेतनसिंह को डाली गांव से गिरफ्तार कर लिया।

 

चरस के साथ एक गिरफ्तार
वडोदरा. शहर के बावामानपुरा में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की टीम ने छापा मारकर चरस के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है।
मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर एसओजी ने बावामानपुरा में गरीब मोहल्ला निवासी उमरखान पठान के मकान पर छापा मारा, जिसमें घर से १७० ग्राम चरस मिली। प्रारंभिक पूछताछ में छह महीने से चरस का व्यापार करने की बात कबूल की। यह चरस एक साधु देकर जाता था। एसओजी ने आरोपी को गिरफ्तार कर पाणीगेट पुलिस को सौंप दिया।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned