Ahmedabad News, lock down : यूपी में फंसे 22 यात्री राज्यपाल आनंदीबेन की मदद से लौटे

लॉक डाउन के कारण...

सभी को मोडासा अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में किया भर्ती

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 18 Apr 2020, 05:57 PM IST

भिलोडा. अरवल्ली व साबरकांठा जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के निवासी 22 यात्री लॉक डाउन के कारण उत्तर प्रदेश में फंसने के बाद वहां की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की मदद से लौटे। सभी यात्रियों को मोडासा अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।
सूत्रों के अनुसार अरवल्ली जिले की भिलोडा तहसील के नांदोज, मोडासा तहसील के सरडोई, मेढासरा, जीतपुर, दघालिया, साबरकांठा जिले की ईडर तहसील के गोरल गांव के 22 यात्री उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में सरसवा स्थित प्राणनाथ ज्ञानपीठ के दर्शन के लिए पिछली 11 मार्च को गए। प्रणामी संप्रदाय से जुड़े यह यात्रियों का पिछली 23 मार्च को ट्रेन से लौटने का आरक्षण था।
लॉक डाउन के कारण यह यात्री वहीं फंस गए। 22 में से 15 यात्री वरिष्ठ नागरिक थे, लॉक डाउन की अवधि 3 मई तक बढ़ाए जाने के कारण परिवारजन चिंतित हो गए। इन यात्रियों को वापस लाने की व्यवस्था करने के लिए गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष अमित चावड़ा व अरवल्ली जिले के अरुण पटेल ने राज्य सरकार से लिखित में मांग की।
यात्रियों ने गांव पहुंचाने के लिए स्थानीय प्रशासन व उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से व्यवस्था करवाने की मांग की। अंतत: राज्यपाल आनंदीबेन ने यात्रियों के लिए व्यवस्था करवाई। वहां से एक बस के जरिए मध्य प्रदेश होते हुए गुजरात के दाहोद होकर अरवल्ली जिले के मालपुर में प्रवेश किया। वहां स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी 22 यात्रियों व बस चालक सहित 25 जनों की सेनेटाइजिंग व स्क्रीनिंग की। इनमें से चार जनों को बुखार होने का खुलासा हुआ। बाद में सभी 25 जनों को मोडासा के अस्पताल में लाकर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।

Rajesh Bhatnagar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned