ईरानी बोट में पाकिस्तानी समुद्री सीमा में रखी गई थी 30 किलोग्राम हेरोइन

एटीएस ने पोरबंदर से 185 नॉटिकल मील दूर समंदर से किया था जब्त, पहले श्रीलंका जाने को कहा फिर रूकने का दिया निर्देश

By: MOHIT SHARMA

Updated: 21 Sep 2021, 12:22 AM IST

अहमदाबाद. गुजरात आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने भारतीय तट रक्षक (इंडियन कोस्टगार्ड) के साथ मिलकर समंदर के रास्ते ड्रग की तस्करी करने वाले ईरानी-पाकिस्तानी गैंग का पर्दाफाश किया है। भारत की समुद्री सीमा से ईरानी बोट से जब्त की गई 30 किलोग्राम हेरोइन को पाकिस्तानी समुद्री सीमा के अंदर पाकिस्तानी ड्रग माफिया गुलाम की ओर से रखा गया था। पहले यह बोट वहां से श्रीलंका जाने को रवाना की गई लेकिन बाद में इसे भारत जाने को कहा।
यह जानकारी गुजरात एटीएस की ओर से बोट के साथ गिरफ्तार सात ईरानी नागरिकों की पूछताछ में सामने आई है।
प्राथमिक जांच व पूछताथ में सामने आया कि यह बोट ईरान निवासी ड्रग माफिया इमाम बख्श की मालिकी की है। बोट का नाम जुम्मा है। यह फिशिंग बोट है। इस बोट के जरिए इमाम बख्श तथा खानसाब नाम के ईरानी ड्रग माफिया ने पाकिस्तानी ड्रग माफिया गुलाम के साथ मिलकर ड्रग की तस्करी का षडयंत्र रचा था।
जिसके तहत इस बोट को ईरान के कोनार्क पोर्ट से फिशिंग की आड़ में रवाना किया गया। वहां से इसे पाकिस्तानी समुद्री सीमा में ले जाया गया वहां गुलाम ने इसमें 30 किलोग्राम हेरोइन रखी। बोट के क्रू मैम्बरों को थुराया सेटेलाइट फोन देकर चैनल नंबर 62 से संपर्क में रहने को कहा। बोट को श्रीलंका के लिए रवाना किया। बाद में सेटेलाइट फोन पर निर्देश दिया कि बोट को श्रीलंका नहीं भारत भेजना है क्योंकि यह ड्रग पंजाब भेजी जाएगी। लेकिन बोट को अभी जहां है वहीं रोक लो क्योंकि उसे गुजरात के समुद्री रास्ते भेजा जाए या मुंबई के, उस बारे में जल्द सूचना दी जाएगी।
गुजरात एटीएस को इस ड्रग तस्करी की भनक लग गई। जिससे एक टीम ने पोरबंदर पहुंचकर कोस्टगार्ड के साथ मिलकर ऑपरेशन शुरू किया। भारत की समुद्री सीमा के अंदर समंदर में ही इस बोट को घेरकर उसमें से 30 किलोग्राम हेरोइन को जब्त कर लिया। जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 150 करोड़ रुपए है।

पोरबंदर कोस्टगार्ड स्टेशन लाई गई बोट
एटीएस ने सात ईरानी क्रू मैम्बरों को भी पकड़ा है। जिनमें इब्राहिम बख्शी उर्फ यीरी, इस्माइल प्रिदादी बख्शी, अब्दुल सत्तार बख्शी, रहीम बख्शी, खालिद जदगाल, दूरमोहम्मद, हमीदुल्ला बख्शी शामिल हैं। इनके पास से बोट से जब्त 30 किलोग्राम हेरोइन को बोट और क्रू मैम्बरों के साथ पोरबंदर कोस्टगार्ड स्टेशन लाया गया है।

पहले भी कई देशों में पहुंचा चुके हैं ड्रग
आरोपियों की पूछताछ में सामने आया कि आरोपी इस जुम्मा नाम की फिशिंग बोट के जरिए फिशिंग (मछली पकडऩे) की आड़ में मस्कट, यमन, तंजानिया, झांझीबार में ड्रग पहुंचा चुके हैं।

एटीएस ने 2018—2021 के दौरान 700 किलो ड्रग पकड़ी
गुजरात एटीएस के अनुसार वर्ष 2018 से लेकर 2021 के दौरान एटीएस ने समुद्री सीमा पर नजर रखते हुए अब तक 700 किलोग्राम ड्रग को जब्त किया है। जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 3500 करोड़ है। ड्रग तस्करी के आरोप में ईरानी, पाकिस्तानी, अफगानिस्तानी लोगों को पकड़ा है। उनकी मदद करने वाले भारतीय नागरिक भी गिरफ्तार किए गए हैं।

गृह राज्यमंत्री ने एटीएस पहुंच कर की समीक्षा
गृह राज्यमंत्री हर्ष संघवी ने सोमवार को गुजरात एटीएस कार्यालय पहुंचकर राज्य की समुद्री सीमा की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने एटीएस के अधिकारियों के साथ काफी समय तक बैठक की। राज्य की पाकिस्तान से सटी सीमा की सुरक्षा के इंतजामों के बारे में भी जानकारी ली।

MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned