साथी बिल्डर पर ही ५७ लाख की चपत लगाने का आरोप

साथी बिल्डर पर ही ५७ लाख की चपत लगाने का आरोप

nagendra singh rathore | Publish: Dec, 08 2018 10:54:12 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 10:54:13 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

फ्लैट की बुकिंग के ग्राहकों से पैसे लेकर बताए बिना दुबई रवाना

अहमदाबाद. एक बिल्डर को उसी की कंपनी के पार्टनर की ओर से ५७ लाख रुपए की चपत लगाने का मामला वेजलपुर थाने में दर्ज हुआ है। साथी बिल्डर पर आरोप है कि उसने जुहापुरा और एलिसब्रिज में निर्माणाधीन दो स्कीमों में फ्लैट बुक करने के नाम पर ग्राहकों के पास से ५७ लाख रुपए की राशि ले ली, लेकिन कंपनी के खाते में पैसे जमा नहीं कराए। उसे खुद के निजी उपयोग में लेकर कंपनी के साथ विश्वासघात किया। रुपए लेने के बाद बताए बिना ही आरोपी साथी बिल्डर के दुबई रवाना हो जाने का भी आरोप लगाया है।
इस मामले में पालडी निवासी एवं एसएनए इन्फ्रा प्रोजेक्ट के मालिक मो.आसिम पूठावाला ने इनकी इस कंपनी के ही हिस्सेदार एवं निदेशक नौशाद रंगूनी के विरुद्ध ठगी एवं विश्वासघात का मामला दर्ज कराया है।
रंगूनी पर आरोप है कि आसिम, रंगूनी और साजिद मेमण ने मिलकर यह कंपनी शुरू की। आसिम और साजिद को अलग काम होने के चलते ज्यादातर कामकाज रंगूनी ही देखते थे। अगस्त २०१७ में आसिम हज पढऩे गए और सितंबर २०१७ में लौटे इस दौरान उन्हें पता चला कि रंगूनी उन्हें बताए बिना ही दुबई चले गए हैं। उनके जाने के बाद उनके पास कई ग्राहक आए जिन्होंने कहा कि उन्होंने कंपनी की जुहापुरा अंबर टावर के पास बन रही अल अर्स-3 स्कीम और एलिसब्रिज में बन रही अल अर्स इटर्नल होम्स नाम की स्कीम में फ्लैट बुक कराए हैं।
इससे जुड़े करारनामा भी ग्राहक हसीना पठान ने दिखाया जो सितंबर २०१६ का था। लेकिन कंपनी के खाते में हसीना पठान की ओर से दिए गए १० लाख रुपए जमा नहीं हुए थे। इसी प्रकार से अब्दुल शकील के २४ लाख, शाहनवाज के १५.९५ लाख और कायनात की ओर से दिए गए रुपए भी कंपनीके खाते में जमा नहीं हुए थे। ऐसा करके रंगूनी ने कुल मिलाकर ५७.१५ लाख रुपए ग्राहकों से स्कीम में फ्लैट बुकिंग के नाम पर लेने के बाद कंपनी के खाते में जमा नहीं कराकर विश्वासघात व ठगी की है।

Ad Block is Banned