20 करोड़ रुपए के खर्च से बनेगा 750 मीटर लंबा रिवरफ्रंट

जूनागढ़ जिले के माणावदर में आजादी के बाद सबसे बड़ी परियोजना का दावा

खारो नदी पर 18 महीनों में पूरा होगा कार्य, एम्फीथिएटर, वाक-वे भी बनेंगे, नदी को भी करेंगे गहरी

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 26 Dec 2020, 10:44 PM IST

जूनागढ़. जिले के माणावदर में पोरबंदर मार्ग स्थित खारो नदी पर 750 मीटर लंबा रिवरफ्रंट बनाया जाएगा। प्रदेश के पर्यटन मंत्री जवाहर चावड़ा ने 20 करोड़ रुपए के खर्च से 18 महीनों में बनने वाले रिवरफ्रंट का हाल ही शिलान्यास किया।
इस अवसर पर चावड़ा ने दावा करते हुए कहा कि जूनागढ़ जिले के माणावदर में आजादी के बाद यह सबसे बड़ी परियोजना होगी। उन्होंने कहा कि अनेक विकास कार्य करवाने का उन्होंने स्वप्न देखा था। अहमदाबाद के बाद माणावदर में भी रिवरफ्रंट की कल्पना करना मुश्किल था लेकिन, शिलान्यस के साथ ही यह हकीकत है।
चावड़ा ने कहा कि रिवरफ्रंट के साथ एम्फीथियेटर, वॉक-वे, पांच प्रवेश द्वार, नदी को गहरी करने के अलावा नदी किनारे रहने वाले लोगों को अन्य स्थान पर मकान दिलाने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि माणावदर-वंथली सहित अन्य क्षेत्रों में राज्य सरकार की ओर से 100 करोड़ रुपए के खर्च से विभिन्न विकास कार्य करवाए जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार की आंखें और कान खुले हैं, इस क्षेत्र के विकास में कोई कमी नहीं रखी जाएगी। इस अवसर पर जूनागढ़ के महापौर धीरूभाई गोहिल के साथ हरसुखभाई गराला ने विकास कार्यों के लिए चावड़ा व राज्य सरकार की प्रतिबद्धता बताई। अजीत जोशी ने रिवरफ्रंट परियोजना की जानकारी दी।
परियोजना के बारे में प्रेमजीभाई मणवर ने अपने विचार व्यक्त किए। केशोद के विधायक देवाभाई मालम, माणावदर नगरपालिका की अध्यक्षा पुष्पाबेन गोर के अलावा वरजांग झाला, नारणभाई सोलंकी, गोविंदभाई सवसाणी, जयेन्द्रभाई कुराणी, पूजाबेन राडा आदि मौजूद थे। हरिभाई भुत ने संचालन किया, नीरज जोशी ने आभार व्यक्त किया।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned