IIT Gandhinagar Lecture नेत्रहीनता का ८० फीसदी तक एक बार में उपचार संभव: डॉ अरविंद

IIT Gandhinagar Lecture नेत्रहीनता का ८० फीसदी तक एक बार में उपचार संभव: डॉ अरविंद
IIT Gandhinagar Lecture नेत्रहीनता का ८० फीसदी तक एक बार में उपचार संभव: डॉ अरविंद

nagendra singh rathore | Updated: 26 Aug 2019, 09:53:38 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

आईआईटी गांधीनगर के वार्षिक व्याख्यान श्रृंखला में बोले अरविंद आईकेयर सिस्टम के निदेशक

 

अहमदाबाद. अरविंद आई केयर सिस्टम के निदेशक डॉ.अरविंद श्रीनिवासन ने कहा कि विश्व की सात बिलियन (अरब) की आबादी में ३९ मिलियन लोग (३.९० करोड़) नेत्रहीनता के शिकार हैं। भारत में ऐसे लोगों की संख्या 12 मिलियन (1.२ करोड़) है। इसमें वह लोग भी शामिल हैं, जो बिना चश्मे के देख या पढ़ नहीं सकते हैं। हालांकि इसमें से ८० प्रतिशत लोगों को एक बार में ही उपचार देकर नेत्रहीनता से छुटकारा दिलाया जा सकता है। जिसमें से ७.५ मिलियन लोगों का दस मिनट का मोतियाबिंद का ऑपरेशन कर उन्हें रोशनी दी जा सकती है, जबकि चश्मे के जरिए २.४ मिलियन लोगों को देखने में सक्षम बनाया जा सकता है।
डॉ.अरविंद श्रीनिवासन ने यह बात हाल ही में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गांधीनगर (आईआईटी गांधीनगर) में आयोजित तीसरे सालाना व्याख्यान श्रृंखला के अपने संबोधन में कही।
तमिलनाडु के मदुरै में वर्ष १९७६ में अरविंद आई केयर सिस्टम की स्थापना की गई। उन्होने कहा कि उनके संगठन की सबसे बड़ी ताकत है उनकी नर्सें जो पूरे दैनिक क्लीनिकल कार्य को प्रभावी तरीखे से निभाती हैं। जिसके चलते चिकित्सक उपचार और सर्जरी पर ध्यान दे पाते हैं।
उन्होंने कहा कि देश की ज्यादा जनसंख्या को यदि बेहतर नेत्र उपचार मुहैया कराना है तो हमें लॉजिस्टिक के प्रबंधन और मरीजों को सुविधा देने के मामले में नए मानक स्थापित करने के लिए नए सिरे से सोचना होगा। उन्होने कहा कि सफलता अच्छी है, लेकिन जीवन के कुछ बिंदुओं पर हमें महत्व पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

IIT Gandhinagar Lecture नेत्रहीनता का ८० फीसदी तक एक बार में उपचार संभव: डॉ अरविंद
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned