script91 dams in Gujarat leaked, 73 in Saurashtra region, 127 on high alert | सौराष्ट्र रीजन के 73 समेत गुजरात के 91 बांध छलके, 127 हाईअलर्ट पर | Patrika News

सौराष्ट्र रीजन के 73 समेत गुजरात के 91 बांध छलके, 127 हाईअलर्ट पर

राज्य का सबसे बड़ा सरदार सरोवर बांध 75 फीसदी से अधिक भरा

अहमदाबाद

Published: October 21, 2021 12:39:00 am

अहमदाबाद. प्रदेश में हुई मौसम की लगभग 98 फीसदी बारिश के परिणाम स्वरूप राज्य के प्रमुख 206 बांधों में से 91 छलक गए हैं। इनमें अकेले सौराष्ट्र रीजन के ही 73 हैं। कुल 128 बांधों में क्षमता का 90 फीसदी से अधिक जल संग्रह हो चुका है इनमें से 127 हाई अलर्ट पर हैं। प्रदेश के सबसे बड़े सरदार सरोवर नर्मदा बांध में बुधवार तक क्षमता के मुकाबले 75 फीसदी से अधिक जल संग्रह हो चुका है। राज्य के प्रमुख बांधों में से सबसे अधिक 141 सौराष्ट्र रीजन में हैं। इनमें से 73 बांध पूरी तरह भर गए हैं। इस क्षेत्र के सभी बांधों में 2550.69 मिलियन क्यूबिक मीटर (एमसीएम) जल संग्रह की क्षमता है। इसके मुकाबले अब तक 2276.90 एमसीएम जल संग्रह हो चुका है जो 89.90 फीसदी है। जल संग्रह की स्थिति के आधार पर देखा जाए तो दक्षिण गुजरात बेहतर स्थिति में है। यहां के प्रमुख 13 बांधों में से नौ पूरी तरह भर गए हैं। इन सभी बांधों की जल संग्रह की क्षमता 8624.78 एमसीएम है। इसके मुकाबले 8613.66 एमसीएम जल संग्रह है। क्षमता की तुलना में दक्षिण गुजरात के बांधों में 99.87 फीसदी जल संग्रह हो चुका है।
सौराष्ट्र रीजन के 73 समेत गुजरात के 91 बांध छलके, 127 हाईअलर्ट पर
सौराष्ट्र रीजन के 73 समेत गुजरात के 91 बांध छलके, 127 हाईअलर्ट पर

कच्छ रीजन के बांध में सबसे कम जल संग्रह
फिलहाल कच्छ रीजन के बांधों में सबसे कम 35.87 फीसदी ही जल संग्रह हो पाया है। इस रीजन में कुल 20 में से दो बांध ही पूरी तरह से भरे हैं। 332.27 एमसीएम क्षमता के मुकाबले इनमें 119.19 एमसीएम जल संग्रह हो पाया है। मध्य गुजरात के 17 में से छह बांध छलक गए हैं। 2347.37 एमसीएम संग्रह क्षमता वाले इन बांधों में फिलहाल 2107.44 एमसीएम जल संग्रह हो चुका है जो 89.78 फीसदी है। जबकि उत्तर गुजरात रीजन के कुल 15 में से एक बांध छलका है। 1929.29 एमसीएम की क्षमता की तुलना में इन बांधों में 708.44 एमसीएम ही जल संग्रह हो पाया है। यह जल संग्रह 36.72 फीसदी है।
128 बांध 90 से 100 फीसदी तक भरे
राज्य के प्रमुख 128 बांधों में क्षमता के मुकाबले जल संग्रह 90त्न से अधिक हो चुका है। महिसागर के वाणकबोरी बांध को छोडक़र 127 को हाईअलर्ट घोषित किया है। 80 फीसदी से अधिक और 90त्न से कम भर चुके सात बांधों को हाईअलर्ट और 70 से अधिक व 80त्न से कम भरे ७ बांधों को चेतावनी के रूप में दर्शाया गया है। 61 बांधों में 70त्न से कम जल संग्रह हुआ है।
नर्मदा का जलस्तर 130.83 मीटर पर पहुंचा
गुजरात के सबसे बड़े सरदार सरोवर नर्मदा बांध का उच्चतम जलस्तर 138.68 मीटर के मुकाबले बुधवार सुबह तक 130.83 मीटर पर पहुंच गया। इस बांध में जलसंग्रह की क्षमता 9460 एमसीएम है, इसके मुकाबले फिलहाल 7098.92 एमसीएम है। यह क्षमता का 75.04 फीसदी है। नर्मदा समेत राज्य के 207 प्रमुख बांधों में जल संग्रह की कुल क्षमता 25244.4 एमसीएम है। अब तक 20924.55 एमसीएम जल संग्रह हो चुका है, यह 82.99 फीसदी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: आज होगी वीरता पुरस्कारों की घोषणा, गणतंत्र दिवस से पूर्व राजधानी बनी छावनीशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातभाजपा की नई लिस्ट में हो सकती है छंटनी की तैयारी, कट सकते हैं 80 विधायकों के टिकटDelhi: सीएम केजरीवाल का ऐलान, अब सरकारी दफ्तरों में नेताओं की जगह लगेंगी अंबेडकर और भगत सिंह की तस्वीरेंDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीUttar Pradesh Assembly Elections 2022: शह और मात के खेल में डिजिटल घमासान, कौन कितने पानी मेंRepublic Day 2022: जानिए इसका इतिहास, महत्व और रोचक तथ्यकई टेस्ट में भी पकड़ में नहीं आता BA 2 स्ट्रेन, जानिए क्यों खतरनाक है ओमिक्रान का ये सब वेरिएंट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.