नवरात्र में गूंजी शहनाई की धुन पर मां आद्य शक्ति की आरती

सोमनाथ महादेव मंदिर में

परिसर में माता पार्वती मंदिर की स्थापना का निर्णय

काल के प्रवाह में लुप्त हुई चंद्रभागा शक्तिपीठ के निर्माण की योजना

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 25 Oct 2020, 11:00 PM IST

प्रभास पाटण. देश के प्रथम ज्योतिर्लिंग यानी शिव व शक्ति के धाम सोमनाथ महादेव मंदिर में नवरात्र के दौरान नौ दिनों तक प्रभात, मध्याह्न व संध्या आरती से पहले शहनाई की धुन से शुरुआत के साथ ही शहनाई व नोबत की जुगलबंदी के बीच महादेव की आरती की गई।

गिर सोमनाथ जिले में प्रभास पाटण-सोमनाथ में देश के प्रथम ज्योतिर्लिंग सोमनाथ महादेव मंंदिर में नवरात्र के दौरान माताजी की आरती सुरीली शहनाई पर अंगुलियों के जरिए शहनाई वादक मुकेश मकवाणा ने सुरमय बनकर शहनाई बजाई। उनके साथ नोबत पर नोबत वादक हरीश चुडास्मा संगत कर अद्भुत वादन के साथ शिव व शक्ति का वातावरण बनाया।
सोमनाथ महादेव मंदिर में मकवाणा परिवार की ओर से तीन पीढिय़ों से शहनाई वादन किया जा रहा है। यानी पहले मुकेश के दादा, बाद में पिता और अब स्वयं मुकेश मकवाणा की ओर से सोमनाथ महादेव मंदिर में सुर सेवा की जा रही है। अंगुलियों के जरिए शहनाई वादन करते समय ‘आनंद मंगल करूं...’, ‘मां ना दीवड़ा जगमग थाय...’, ‘जय आद्य शक्ति...’ सहित आरती शहनाई के सुरों से बहती रही। फिलहाल कोरोना महामारी के कारण सोमनाथ महादेव मंदिर तीनों समय की आरती के पहले व बाद में आधे-आधे घंटे तक व आरती के समय दर्शनार्थियों के लिए बंद रहता है।
सोमनाथ ट्रस्ट के मुखपत्र ‘सोमनाथ वर्तमान’ में ट्रस्ट के ट्रस्टी सचिव पी.के. लहेरी ने पिछले दिनों लिखा कि सोमनाथ महादेव मंदिर परिसर में माता पार्वती के मंदिर की कमी को दूर करने का निर्णय ट्रस्टी मंडल की ओर से किया गया है। सूरत के दानदाता भीखुभाई धामेलिया की ओर से मंदिर के निर्माण की कार्रवाई शुरू की गई है। काल के प्रवाह में लुप्त हुई चंद्रभागा शक्तिपीठ के निर्माण की योजना है।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned