अहमदाबाद शहर को ओडीएफ प्लस का तमगा

केन्द्रीय जांच टीम ने दियाप्रमाणपत्र

By: Omprakash Sharma

Published: 10 Jan 2019, 11:35 PM IST

अहमदाबाद. शहर में पिछले दिनों आई केन्द्रीय जांच टीम ने अहमदाबाद शहर को खुले में शौच मुक्त यानी ओपन डेफिकेशन फ्री (ओडीएफ) प्लस का प्रमाणपत्र दिया है। अर्थात शहर को खुले में शौच से मुक्ति के श्रेष्ठ उपाय किए जा रहे हैं।
महानगरपालिका आयुक्त विजय नेहरा ने बताया कि केन्द्रीय जांच टीम की ओर से गत दो जनवरी से चार जनवरी शहर के विविध कॉम्युनिटी, पब्लिक टॉयलेट की जांच की गई थी। जांच के बाद टीम ने पांच जनवरी को ऑपन डेफिकेशन फ्री प्लस का प्रमाणपत्र दिया गया। केन्द्र की टीम ने जिन टॉयलेट की जांच की थी उनमें से ५० फीसदी उत्तम (एक्सीलेंट), ३३ फीसदी बहुत साफ (वेरी क्लीन) और १२.५ फीसदी एसपाइरेश्नल (उदाहरण स्वरूप) पाईं गईं। उन्होंने दावा किया कि जांच मेें एक भी टॉयलेट ऐसी नहीं पाई जो गंदी या फिर उसका इस्तेमाल नहीं किया गया हो। शहर को ओडीएफ का स्टेटस २ अक्टूबर २०१६ को ही मिल गया था। अब ओडीएफ प्लास का स्टेटस भी शहर को मिला है। उन्होंने कहा कि शहर में सफाई और नागरिकों की स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर विविध उपाय किए जा रहे हैं।
इन मुद्दों पर दिया गया था ध्यान
मनपा आयुक्त नेहरा के अनुसार २ अक्टूबर २०१६ को अहमदाबाद शहर को ओडीएफ का स्टेटस मिला हुआ है। इसके बाद मनपा की ओर से ओडीएफ प्लस के लिए आवेदन किया था। इसके लिए पिछले दिनों की गई जांच में टॉयलेट के दरबाजा व्यवस्थित होने, जरूरी वेंटीलेशन आदि को लेकर विशेष ध्यान दिया गया। क्राइटएरिया के अन्तर्गत दस फीसदी टॉयलेट बेस्ट टॉयलेट के अन्तर्गत होने चाहिए। जिनमें पेपर नेपकीन, वेंडिग मशीन की उत्तम व्यवस्था हो। टॉयलेट ऐसी होनी चाहिए जिनका उपयोग छोटे बच्चे तथा दिव्यांग भी आसानी से उपयोग कर सकें।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned