scriptAhmedabad, Civil hospital, special omicorn ward, corona | Ahmedabad: अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में बनाया विशेष ओमिक्रॉन वार्ड | Patrika News

Ahmedabad: अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में बनाया विशेष ओमिक्रॉन वार्ड

Ahmedabad, Civil hospital, special omicorn ward, corona

अहमदाबाद

Published: December 06, 2021 10:48:30 pm

अहमदाबाद. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की गुजरात में एंट्री होने के बाद से स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। राज्य में पहला पॉजिटिव केस जामनगर में मिला है, लेकिन जिस बुजुर्ग में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है वह अहमदाबाद एयरपोर्ट से होकर जामनगर गया था। शहर में ओमिक्रॉन की आशंका को देखते हुए अहमदाबाद स्थित एशिया के सबसे बड़े सिविल अस्पताल में अभी से ही सतर्कता के चलते तैयारियां चाक चौबंद कर दी गई हैं।
असारवा इलाके में स्थित सिविल अस्पताल में विशेष ओमिक्रॉन वार्ड तैयार किया गया है। इस विशेष वार्ड में फिलहाल 24 बेड हैं। ओमिक्रॉन के नए वैरिएंट के संक्रमण के केस आने की स्थिति में उपचार के लिए इसे सुनिश्चित किया गया है। इन पर वेंटिलेटर व ऑक्सीजन की सुविधा भी उपलब्ध है।
Ahmedabad: अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में बनाया विशेष ओमिक्रॉन वार्ड
Ahmedabad: अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में बनाया विशेष ओमिक्रॉन वार्ड
ओमिक्रॉन वार्ड सिविल अस्पताल परिसर में स्थित 1200 बेड के हॉस्पिटल की बिल्डिंग में पांचवीं मंजिल पर बनाया गया है। अहमदाबाद में यदि कोई ओमिक्रॉन का शंकास्पद मरीज मिलता है तो उसे यहां पर आईसोलेट किया जाएगा। जरूरत पडऩे पर यहां 350 वेंटिलेटर बेड और 850 ऑक्सीजन बेड उपलब्ध कराने की व्यवस्था है।
राज्य के स्वास्थ्य आयुक्त जयप्रकाश शिवहरे ने सोमवार को विशेष ओमिक्रॉन वार्ड का जायजा लिया और स्थिति की समीक्षा की। इस अवसर पर सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ राकेश जोशी व अन्य वरिष्ठ चिकित्सक उपस्थित थे।
सतर्कता के चलते बनाया है वार्ड

अहमदाबाद में ओमिक्रॉन का कोई भी शंकास्पद केस नहीं मिला है। जामनगर में जरूर इसकी पुष्टि हुई है। इसे देखते हुए और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यू एचओ) की ओर से ओमिक्रॉन वैरिएंट को वैरिएंट ऑफ कंसर्न घोषित किया है। इसके द्देनजर सतर्कता के चलते वार्ड बनाया है। इसमेंं 24 से 25 बेड फिलहाल सुनिश्चित किए हैं। जरूरत पडऩे पर तत्काल 300 बेड सुनिश्चित किए जा सकते हैं। और ज्यादा जरूरत पडऩे पर पूरे 1200 बेड के अस्पताल को तब्दील किया जा सकता है।
-डॉ. राकेश जोशी, चिकित्सा अधीक्षक, सिविल अस्पताल अहमदाबाद,

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.