scriptAhmedabad crime branch arrested 4 accused in angadia loot case | Ahmedabad: आंगडिय़ा पेढ़ी से 54 लाख लूटने के 4 आरोपी बाड़मेर से गिरफ्तार | Patrika News

Ahmedabad: आंगडिय़ा पेढ़ी से 54 लाख लूटने के 4 आरोपी बाड़मेर से गिरफ्तार

Ahmedabad crime branch arrested 4 accused in angadia loot case -क्राइम ब्रांच ने 19.32 लाख का मुद्दामाल, पिस्तोल की बरामद, -तीन अन्य आरोपी फरार, एक महीने पहले की थी रैकी

अहमदाबाद

Published: June 27, 2022 10:45:32 pm

अहमदाबाद. शहर के ओढव क्षेत्र में छोटालाल की चाली स्थित पी एम आंगडिय़ा पेढ़ी के कार्यालय में घुसकर पिस्तोल व चाकू दिखाकर की गई 54 लाख रुपए से ज्यादा की लूट में लिप्त चार आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने राजस्थान के बाड़मेर जिले से गिरफ्तार किया है। इनके पास से उपयोग में ली गई पिस्तोल, चाकू, बाइक, चार कारतूस, पांच मोबाइल, 19.32 लाख का मुद्दामाल बरामद किया है। तीन आरोपी अभी भी फरार हैं। क्राइम ब्रांच के अनुसार पकड़े गए आरोपियों में राजस्थान के बाड़मेर जिले की सीवाणा तहसील के रमणिया गांव के भायल वास निवासी केसरसिंह भायल (परमार) (26), सीवाणा तहसील के ही धीरा गांव निवासी तेजसिंह भायल (20), सीवाणा तहसील के जीनपुर गांव निवासी प्रविण सिंह परमार (23) और जालौर जिले की सायला तहसील के मांडवला गांव निवासी ईश्वर सिंह चौहान (20) शामिल हैं। इस मामले में मांडवला गांव निवासी अन्य आरोपी सुरेन्द्र सिंह चौहान, बाडमेर की सीवाणा तहसील के मांगी गांव निवासी नितेष सिंह चौहान और जोधपुर जिले की लूंणी तहसील के भांडु गांव निवासी निकूसिंह उदावत फरार हैं। लूट वाले दिन आरोपी प्रविण सिंह ने नीचे रुककर नजर रखी और नितेष, निकू, तेजसिंह और सुरेन्द्रसिंह व ईश्वर सिंह ने पेढ़ी के अंदर घुसकर लूट को अंजाम दिया। निकू ने पिस्तोल दिखाई और नितेष व अन्य ने चाकू दिखाकर कर्मचारियों को डराया। आरोपियों ने लूट मेें चोरी की बाइकों का इस्तेमाल किया था। लूट को अंजाम देने के बाद आरोपी भागकर अहमदाबाद जिले के बावला गए वहां से एक कार किराए पर लेकर राजस्थान के बिसनगढ़ गए थे। वहां से अन्य कार किराए पर लेकर केसरी सिंह के बाडमेर जिले में स्थित खेत गए जहां लूट के माल का बटवारा किया था।

Ahmedabad: आंगडिय़ा पेढ़ी से 54 लाख लूटने के 4 आरोपी बाड़मेर से गिरफ्तार
Ahmedabad: आंगडिय़ा पेढ़ी से 54 लाख लूटने के 4 आरोपी बाड़मेर से गिरफ्तार

केसर सिंह ने दी थी टिप, की थी रैकी
आरोपियों की पूछताछ में सामने आया कि इस लूट का मुख्य आरोपी केसरसिंह है। वह 2017-18 में ओढव व्यापारी महामंडल में एक कारखाने में नौकरी करता था। तब वह ओढव क्षेत्र से परिचित हुआ था। उसे पता चला था कि यहां एक आंगडिय़ा पेढ़ी है, जिसमें लाखों का लेनदेन हर दिन होता है। हवाला के पैसे यहां आते हैं। जिससे उसने लूट की योजना बनाई थी। केसरसिंह ने ही नितेष सिंह के साथ मिलकर एक महीने पहले इस पेढ़ी की रैकी की थी। फिर सुरेन्द्र सिंह के साथ मिलकर 15 जून को अपने गांव में खेत पर पार्टी करके लूट का षडयंत्र रचा। इसमें केसर, नितेष, निकूसिंह, तेज सिंह, प्रविण सिंह शामिल थे। निकू के पास पिस्तोल थी और नितेष ने चाकुओं की व्यवस्था की थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा का बड़ा बयान- साथ आएं नीतीश कुमार, सीएम पद उनकाबिहारः जदयू और भाजपा के बीच तकरार की वो पांच वजहें, जिससे टूटने के कगार पर पहुंची नीतीश कुमार सरकारMaharashtra Cabinet Expansion: शिंदे-फडणवीस सरकार के नए मंत्रियों के नाम हुए फाइनल, यहां देखें पूरी लिस्टताइवान का चीन समेत दुनिया को संदेश: चीन के सैन्य अभ्यास के तुरंत बाद ताइवान ने भी शुरू की Live Fire Artillery Drill, बज गए युद्ध के नगाड़ेहिंदुओं को अल्पसंख्यक घोषित करना अदालत का काम नहीं: सुप्रीम कोर्टFBI का छापा : अमरीका में भी भारत की तरह छापेमारी, Donald Trump के फ्लोरिडा वाले घर पर FBI की रेडCWG 2022: शूटिंग के बिना भारत ने जीते 61 मेडल, चौथे नंबर पर खत्म किया कॉमनवेल्थ का सफरबिहार में टूट के कगार पर भाजपा-जदयू गठबंधन! JDU की आज CM नीतीश के घर पर निर्णायक बैठक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.