ओएनसीजी पाइप लाइन से ऑयल चुराने जा रहे गिरोह को पकड़ा

ओएनसीजी पाइप लाइन से ऑयल चुराने जा रहे गिरोह को पकड़ा

Nagendra rathor | Publish: Feb, 15 2018 11:38:02 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

लांभा के पास हुए थे इकट्ठा, पंचर करने के औजार मिले

अहमदाबाद. नारोल से खेडा जाने वाले रोड पर सारसा गांव के पास ओएनजीसी पाइप लाइन में पंचर करके ऑयल चुराने के लिए लांभा टर्निंग के पास इकट्ठा हुए गिरोह को क्राइम ब्रांच ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से पाइप लाइन में पंचर करने के लिए उपयोग में लिया जाने वाला लोहे का वाल्व, लोखे के दो सरिया, ड्रिलिंग करने के लिए बर्मा कटर व अन्य साजोसामान जब्त किया है।

पकड़े गए आरोपियों में मूल उत्तरप्रदेश के मैनपुरी जिले के मथुरिया गांव हाल चांदलोडिया ब्रिज के पास रहने वाला अवधेश कुमार उर्फ चच्चू यादव (३१), मूल मैनपुरी के मथुरिया गांव हाल नारोल अयोध्यानगर निवासी पुनित उर्फ छोटू उर्फ गोलू यादव (२४), देवभूमि द्वारका सब्जी मंडी चौक निवासी मेहुल झाखरिया (32) व म.प्र.शिवपुरी जिले के मूल निवासी हाल चांदलोडिया ओवरब्रिज के पास रहने वाला मुकेश उर्फ मोन्टू जैन (४१) शामिल हैं।
आरोपी खेडा जाने वाले रोड पर सारसा गांव के पास से गुजर रही ओएनजीसी की पाइप लाइन में पंचर करके ऑयल चोरी करने के इरादे से इकट्ठा हुए थे। यह लोग चोरी करने के लिए रवाना हों उससे पहले ही इन्हें पकड़ लिया।

पकड़े गए आरोपी इससे पहले भी आईओसी व ओएनजीसी की पाइप लाइनों में पंचर करके ऑयल चोरी करने के कई मामलों में पकड़े जा चुके हैं। अवधेश कुमार २००३ से इस चोरी में लिप्त है और पेथापुर, अडालज, कलोल, दहेगाम टाउन, असलाली थाने में गिरफ्तार हो चुका है।

पुनित उर्फ छोटू भी उ.प्र.के मैनपुरी जिले के किशनी थाने में फायरिंग के आरोप में और इटावा जिले में और औरेया जिले में पाइप लाइन से चोरी की कोशिश के आरोप में पकड़ा जा चुका है। असलाली, कणवा व क्राइम ब्रांच में दर्ज मामलों में वांछित था। मेहुल भी कच्छ, सुरेन्द्रनगर, महेसाणा, पाटण, अहमदाबाद, गांधीनगर में पकड़ा जा चुका है। मुकेश इससे पहले नहीं पकड़ा। लेकिन यह मेहुल के साथ मिलकर २०11 से २०१४ के दौरान राजस्थान से केरोसीन लाकर सौराष्ट्र में बेचने का धंधा करता था।

Ad Block is Banned