57 दिन के उपचार में कोरोना के गंभीर संक्रमण को हराया

शरीर के कोषों में ऑक्सीजन हो गई थी कम

By: Omprakash Sharma

Updated: 03 Jul 2021, 08:56 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना के गंभीर संक्रमण अर्थात शरीर के कोषों में ऑक्सीजन की मात्रा कम पहुंचने की तकलीफ के बावजूद इस संक्रमण को परास्त कर दिया। शहर के एचसीजी अस्पताल में भर्ती किया गया यह मरीज राजस्थान का है जिसे 57 दिन उपचार की जरूरत हुई।
राजस्थान का 32 वर्षीय एक युवक को फेफड़ों में गंभीर संक्रमण के बीच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। कुछ दिनों बाद इस युवक को सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी। तीव्र खांसी के साथ शरीर के कोषों में ऑक्सीजन की मात्रा कम पहुंचने लगी थी। इस गंभीर संक्रमण के कारण गत 26 अप्रेल को उसे राजस्थान से अहमदाबाद लाया गया और सीधे ही एचसीजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया था। चिकित्सकों का कहना है कि उस दौरान युवक की स्थिति ऐसी थी कि बचने की गुंजाइश बहुत कम रह गई थी। मरीज की हालत को लेकर परिजन भी काफी चिन्तित थे। अस्पताल के चिकित्सक डॉ. हरजीतसिंह डुमरा के नेतृत्व में युवक का उपचार किया जा रहा था। चिकित्सक हर तरह का उपचार कर रहे थे। इसके बावजूद मरीज की हालत नाजुक होने लगी थी।

अपनाई गई थी ईसीएमओ पद्धति
डॉ. डुमरा के अनुसार विविध उपचार प्रणाली का कम असर रहने के बाद इस मरीज को एक्स्ट्रा कॉर्पोरियल ेमेम्ब्रेन ऑक्सीजन (ईसीएमओ) देने की जरूरत हुई। मशीन के माध्यम से रक्त के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाई गई। इस पद्धति के कुछ दिनों बाद मरीज की हालत में कुछ सुधार होने लगा। इसके एक सप्ताह बाद वेंटिलेटर से भी मुक्त कर दिया गया। चिकित्सकों का कहना है कि उपचार के दौरान मरीज का मनोबल भी दृढ था जिससे उपचार प्रभावी हो सका था। 57 दिन के उपचार के बाद मरीज को छुट्टी दी जा सकी थी।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned