Ahmedabad News: जेहादी षड्यंत्र का वांछित आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार

Ahmedabad News: जेहादी षड्यंत्र का वांछित आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार
Ahmedabad News: जेहादी षड्यंत्र का वांछित आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार

nagendra singh rathore | Updated: 23 Sep 2019, 09:55:21 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

Ahmedabad, Gujarat ATS, Crime Branch, Godhra riots, jehadi conspiracy पत्नी बच्चों से मिलने अहमदाबाद पहुंचते ही एयरपोर्ट से पकड़ा

 

अहमदाबाद. गोधरा दंगो के बाद उसका बदला लेने के लिए गुजरात को दहलाने को जेहादी षड्यंत्र रचने के मामले में वांछित आरोपी युसूफ अब्दुल बहाव (५९) को गुजरात एटीएस एवं अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने सोमवार को अहमदाबाद एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।
अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के एसीपी बी वी गोहिल ने बताया कि आरोपी यूसुफ पर जेहादी षड्यंत्र के तहत आर्थिक मदद करने का आरोप है। उसने सऊदी के अलग अलग शहरों में रहने वाले लोगों को दंगो से जुड़े भड़काऊ साहित्य एवं वीडियो दिखाकर बदला लेने के लिए लोगों के पास से पैसे जुटा कर उसे तीन बार आंगडिय़ा के जरिए अहमदाबाद भेजने का आरोप है। आरोपी अब्दुल लतीफ़ पटेल के साथ बात कर उसने यह पैसे मुफ़्ती सुफियान अहमद पतंगियो को भेजे थे।
आरोपी युसूफ मूल रूप से अहमदाबाद के जुहापुरा का रहने वाला है। वह वर्ष 1990 में सऊदी चला गया था। वहाँ पहले कपड़ों की सिलाई का फिर रेडीमेड कपड़ों की मार्केटिंग का काम किया। 4 साल से ट्रैवेल एजेंट का भी काम कर रहा था।
उसकी पत्नी और बच्चे करीब एक साल से अहमदाबाद के जुहापुरा में रहने आ गए थे। जिससे वह बच्चों से मिलने अहमदाबाद आया। एयरपोर्ट पर सोमवार को कुवैत से आए विमान से पहुंचते ही उसे पकड़ लिया गया। वह अपने पासपोर्ट पर ही अहमदाबाद पहुंचा था।
गुजरात एटीएस और अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने संयुक्त कार्यवाही करके उसे पकड़ लिया। इस मामले में अब तक 64 आरोपी पकड़े जा चुके हैं। 34 पकडऩे बाकी हैं। जिसमें रसूलखान पार्टी, दाउद इब्राहिम व अन्य शामिल हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned