अहमदाबाद में मेट्रो ट्रेन हर स्टेशन पर बने क्वारंटीन कक्ष

Ahmedabad, metro train, station, quarantine, social distancing, Mask : सिर्फ 90 यात्री कर सकेंगे सफर

By: Pushpendra Rajput

Published: 05 Sep 2020, 07:21 PM IST

गांधीनगर. अहमदाबाद में वस्राल से एपरेल पार्क के बीच दौडऩे वाली मेट्रो ट्रेन (metro train) कोरोना महामारी में लॉकडाउन (Lockdown) के बाद अब सोमवार से एक बार फिर पटरी दौड़ेगी। हालांकि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए न सिर्फ मेट्रो ट्रेन (metro train) बल्कि स्टेशन पर हर इंतजाम किए गए हैं। यदि किसी भी यात्री में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं तो उसके लिए हर स्टेशन पर कोरोन्टाइन कक्ष बनाए गए हैं जहां से संक्रमित को नजदीकी कोविड-19 (Covid-19) अस्पताल में भेज दिया जाएगा। वहीं मेट्रो ट्रेन में सोशल डिस्टेसिंग (social distancing) बनाए रखने के लिए एक सीट छोड़कर दूसरी सीट पर यात्रियों को बैठना होगा। जहां एक सीट पर आठ यात्री बैठ सकते हैं वहां सिर्फ चार ही यात्री बैठ सकेंगे। यही नहीं मेट्रो ट्रेन में एक बार में सिर्फ 90 यात्रियों को ही सफर करने का मौका मिलेगा।

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश

मेटो प्रशासन ने सोमवार से यह दौडऩे को लेकर तैयारियां कर ली है। हालांकि हररोज मेट्रो का ट्रायल रन चल रहा है ताकि हर तरह की चौकसी बरती जा रही है। शनिवार को मेट्रो ट्रेन में सफर कर तैयारियों का जायजा लिया। जहां मेट्रो ट्रेन में कर्मचारी सेनेटाइजिंग करते नजर आए। वहीं मेट्रो स्टेशन में प्रवेश से पहले सेनेटाइज करने के बाद थर्मल स्क्रीनिंग की गई। बाद में मेट्रो स्टेशन परिसर में प्रवेश दिया गया।

मास्क नहीं पहना तो लगेगा एक हजार जुर्माना

प्रत्येक यात्री को मेट्रो ट्रेन परिसर में फेस मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। मास्क नहीं लगाने वाले को एक हजार रुपए का जुर्माना भरना होगा। मेट्रो या स्टेशन परिसर में थूकने वालों पर भी जुर्माना लगेगा। आरोग्य सेतु अनिवार्य तौर पर डाउन लोडकरना होगा।

हर फेरे मेट्रो ट्रेन का होगा सेनेटाइजेशन

यूं तो मेट्रो स्टेशनों की साफ-सफाई नियमित तौर पर से होती है, लेकिन सात सितम्बर से मेट्रो ट्रेन के शुरू होने की संभावना को देखते हुए भी ट्रेन को सेनेटाइज किया जा रहा है। ट्रेन के प्रारंभ होने पर स्टेशनों भी लगातार सेनेटाइज किया जाएगा। प्रति फेरे पर भी मेट्रो को सेनेटाइज किया जाएगा। मेट्रो ट्रेन की पटरियों की रखरखाव किया जा रहा है। ट्रायल भी किया जा रहा है ताकि पांच माह तक खड़ी रहने के बाद दौडऩे में दिक्कत नहीं हो।
गौरतलब है कि कोरोना महामारी का संक्रमण रोकने के लिए 24 मार्च से लॉकडाउन लागू होने के बाद से मेट्रो ट्रेन का संचालन रोक दिया गया था। इसके बाद से पिछले पांच माह से मेट्रो ट्रेन का संचालन ठप है। अब गृह मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद अब संभवत: सात सितम्बर से फिर से मेट्रो ट्रेन शुरू हो जाएगी।

ऐसे दौड़ेगी मेट्रो

गुजरात मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (जीएमआरसी) के जनसंपर्क अधिकारी अंकुर पाठक ने बताया कि सोमवार और मंगलवार को सुबह 11 से 12.10 बजे एवं शाम 4.25 बजे से 5.10 बजे तक ट्रेन दौड़ाई जाएगी। वहीं 9 से 12 सितंबर तक सुबह 11 से शाम पांच बजे तक ट्रेन दौड़ाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि नीट की परीक्षा के चलते भारत सरकार के शहरी विकास मंत्रालय के दिशा-निर्देशानुसार 13 सितम्बर को मेट्रो ट्रेन सुबह सात से शाम सात बजे तक चलाई जाएगी। 14 सितम्बर के बाद कोरोना समय पूर्व ही मेट्रो ट्रेन सुबह 11 से शाम पांच बजे तक कार्यरत होगी। सेनेटाइज टोकन मिलेंगे यात्रियों कोमास्क या फेसबुक बगैर यात्रियों से जुर्माना वसूला जाएगा यात्रियों के लिए मेट्रो स्टेशन पर पैर से संचालित सेनेटाइजर उपलब्ध होगा। सेनेटाइज टोकन यात्रियों को दिए जाएंगे। प्रत्येक यात्री को आरोग्य सेतु एप का उपयोग करना होग ताकि नजदीकी संक्रमित व्यक्ति की तुरंत ही जानकारी मिल सके। प्रत्येक फेरे के बाद ट्रेन को सेनेटाइज किया जाएगा। सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। प्लेटफार्म पर भी यात्रियों के लिए एक मीटर के अंतर का मार्किंग किया गया है।

COVID-19
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned