Ahmedabad News : भावनगर में कोरोना की दवा पर अनुसंधान

  • सेंट्रल सॉल्ट एंड मरीन केमिकल रिसर्च इन्स्ट्टयूट का प्रयास
  • कम्प्यूटर लैब में रिसर्च की प्रक्रिया आगे बढ़ी

By: Binod Pandey

Published: 24 Dec 2020, 12:53 AM IST

राजकोट. भावनगर में स्थित देश की विख्यात सेंट्रल सॉल्ट एंड मरीन केमिकल रिसर्च इंस्ट्टयूट के वैज्ञानिक कोविड रोग पर अंकुश लगाने के लिए दवा की खोज में जुटे हुए हैं। संस्थान रेमडेसिवीर से अधिक असरदार दवा के अनुसंधान के लिए कम्प्यूटर लैब में काम शुरू कर चुकी है। संस्थान के वैज्ञानिकों का दावा है कि शीघ्र ही दवा के लिए कम्प्यूटर संंबंधी आधार पूरा कर लिया जाएगा, जिसके बाद इसे देश के किसी अव्वल लैब में दिया जाएगा। इसके बाद दवा के ऊपर अधिक अनुसंधान किया जा सकेगा। फिर यह दवा या इंजेक्शन के रूप में हो सकता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि कम्प्यूटर आधारित ग्राफिक्स आदि की मदद से वायरस को लेकर अनुसंधान जारी है। आशा है कि प्राथमिक चरण के काम में उन्हें सफलता मिलेगी। हाल में इस संस्थान के वैज्ञानिक इन सिलिको अध्ययन के जरिए इस खोज में जुटे हैं कि किसी प्रकार के वायरस पर असरदार दवा की डिजाइन देखकर कम्प्यूटर पर गणना के जरिए दूसरी दवा निर्मित की जा सकती है, जो कि किसी अन्य वायरस पर काम कर सके।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned