Ahmedabad News : शेरों की तिकड़ी आजी डैम पहुंची, मवेशी का शिकार किया

पिछले करीब एक महीन से राजकोट जिले के मेहमान बने शेर अब राजकोट शहर के आंगण तक आ पहुंचे हैं। पिछले पांच-छह दिनों से राजकोट तहसील के वडाली के समीपवर्ती क्षेत्रों में पड़ाव डाले तीनों शेर अब राजकोट के आजी डैम के समीप आ चुके हैं। शुक्रवार देर रात शेर आजी डैम केसमीप मेलडी माताजी के मंदिर से थोड़ी दूरी पर आ धमके। एक मवेशी के शिकार करने के बाद ग्रामीणों में भय का माहौल बन गया।

By: Binod Pandey

Updated: 10 Jan 2021, 01:01 AM IST

राजकोट. पिछले कई दिनों से राजकोट की सीमा में घूम रही शेरों की तिकड़ी ने शनिवार तड़के आजी डैम से पांच किलोमीटर आगे थोराला गांव में मवेशी का शिकार किया। ग्रामीणों के शोर करने पर शेर ने शिकार वहीं छोड़ कर भाग निकले। घटना की जानकारी मिलने पर वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे।
पिछले करीब एक महीन से राजकोट जिले के मेहमान बने शेर अब राजकोट शहर के आंगण तक आ पहुंचे हैं। पिछले पांच-छह दिनों से राजकोट तहसील के वडाली के समीपवर्ती क्षेत्रों में पड़ाव डाले तीनों शेर अब राजकोट के आजी डैम के समीप आ चुके हैं। शुक्रवार देर रात शेर आजी डैम केसमीप मेलडी माताजी के मंदिर से थोड़ी दूरी पर आ धमके। एक मवेशी के शिकार करने के बाद ग्रामीणों में भय का माहौल बन गया। इसके बाद वन विभाग अपनी कार्रवाई में जुट गया। राजकोट तहसील के रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर जयंत गांगडिया ने बताया कि वडाली के समीप घूम रहे तीनों शेर आजी डैम से पांच किलोमीटर आगे थोराला गांव में पहुंचे थे। यहां गांव के समीप कालू मुंधवा नामक पशुपालक के पशु का शिकर किए। घटना शनिवार तड़के पांच बजे के आसपास की बताई गई है। पशु की आवाज सुनकर ग्रामीण जग गए और शोर मचाने लगे, जिससे शेर वहीं शिकार छोड़ भाग निकले। वन विभाग के अधिकारी शेरों की सुराग लगाने में जुट गए हैं।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned