Ahmedabad News : वन विभाग के शिकंजे में आया शिकारी गिरोह

वन विभाग ने जाल में फंसे शेर के बच्चे का बचाव करते हुए सासण एनिमल केयर सेंटर में इलाज करवाया। वहीं शेरनी के हमले में घायल मूल मध्यप्रदेश व हाल सुरेन्द्रनगर का रहने वाला हबीब शमशेर परमार से पूछताछ शुरू की। पता चला कि शेर के शिकार के लिए आरोपियों ने छह जगहों पर जाल बिछाए थे।

By: Binod Pandey

Published: 05 Feb 2021, 12:09 AM IST

राजकोट. जूनागढ़-गिर सोमनाथ जिले के गिर जंगल क्षेत्र में शिकारी गिरोह के सक्रिय होने की जानकारी मिलने पर वन विभाग सतर्क हो गया है। गिरोह सदस्य इस बार वन विभाग के शिकंजे में आए हैं। सूत्रापाडा प्रांची के समीप खांभा रेवेन्यू क्षेत्र में बुधवार को शेर के बाल जाल में फंसने पर उसने शिकारी को घायल कर दिया जिससे समग्र शिकारी गिरोह का पर्दाफाश हो गया।

विभाग के कर्मचारियों ने गिर सोमनाथ, जूनागढ़ और भावनगर जिले के कई जगहों पर छापेमारी कर 56 व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। इन शिकारी गिरोह के चार सदस्यों के पकड़े जाने के बाद छह स्थलों पर जाल बिछाने की जानकारी का खुलासा हुआ। गिर सोमनाथ के सुत्रापाडा प्रांची के समीप खांभा रेवेन्यू क्षेत्र में आठ महीने का शेर का बच्चा शिकारियों के जाल में फंस गया था। इस पर गुस्साई शेरनी ने शिकारी पर हमला कर उसे घायल कर दिया। घायल व्यक्ति को तलाला हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था, लेकिन वह फरार हो गया। वन विभाग ने फरार आरोपी को वाडला के समीप से पकड़कर जूनागढ़ सरकारी दवाखाना में भर्ती कराया। घायल आरोपी से पूछताछ के बाद एक महिला समेत कुल चार आरोपियों को पकड़ा गया।

वन विभाग ने जाल में फंसे शेर के बच्चे का बचाव करते हुए सासण एनिमल केयर सेंटर में इलाज करवाया। वहीं शेरनी के हमले में घायल मूल मध्यप्रदेश व हाल सुरेन्द्रनगर का रहने वाला हबीब शमशेर परमार से पूछताछ शुरू की। पता चला कि शेर के शिकार के लिए आरोपियों ने छह जगहों पर जाल बिछाए थे। दूसरी ओर इस घटना को लेकर वन विभाग ने पुणे से भावनगर जिले के शिहोर आ रहे ट्रक में सवार 26 अन्य लोगों के मोबाइल कॉल डिटेल में जूनागढ़ से पकड़े चार लोगों के साथ सम्पर्क होने की जानकारी परइन सभी से पूछताछ शुरू की गई है। शिहोर में से 26 लोगों को हिरासत में लेकर कुल 56 संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है। वन विभाग के डीसीएफ सुनील बोरवले ने बताया कि हाल शिकारी गिरोह के सदस्यों ने पूछताछ जारी है।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned