Ahmadabad News : मालगाड़ी की टक्कर से घायल हुए शेर की मौत

शेर को अपने कब्जे में लेने के बाद सर्वप्रथम बाबरकोट पशु देखभाल केन्द्र में ले जाया गया। प्राथमिक इलाज के बाद शेर को बचाने के लिए पालीताणा के शेत्रुंजी डिवीजन के डीसीएफ निशा राज ने आपातकालीन लाइन एम्बुलेंस के जरिए जूनागढ़ के चक्करबाग ले जाया गया। यहां पशु चिकित्सकों की टीम ने शेर का इलाज शुरू किया, लेकिन तीन दिनों के बाद उसकी मृत्यु हो गई।

By: Binod Pandey

Published: 20 Feb 2021, 08:57 AM IST

राजकोट. अमरेली जिले के राजुला के समीप उंचेया गांव के पास रेलवे ट्रैक पर पीपावाव की ओर जाती मालगाड़ी की टक्कर में चार से पांच साल का शेर गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। शेर को पीठ और सिर के भाग में गंभीर चोट लगी थी।
बताया गया कि गत 16 फरवरी को तड़के मालगाड़ी की चपेट में आने के बाद शेर गंभीर रूप से घायल हो गया था। घटना के बाद राजुला वृहद्गिर रेंज के एएसएफ स्तर के अधिकारी टीम के साथ पहुंच गए। शेर को अपने कब्जे में लेने के बाद सर्वप्रथम बाबरकोट पशु देखभाल केन्द्र में ले जाया गया। प्राथमिक इलाज के बाद शेर को बचाने के लिए पालीताणा के शेत्रुंजी डिवीजन के डीसीएफ निशा राज ने आपातकालीन लाइन एम्बुलेंस के जरिए जूनागढ़ के चक्करबाग ले जाया गया। यहां पशु चिकित्सकों की टीम ने शेर का इलाज शुरू किया, लेकिन तीन दिनों के बाद उसकी मृत्यु हो गई। जानकारी में हो कि शेरों के लिए रेलवे ट्रेक पहले भी खतरनाक साबित हो चुके हैं। इसके बाद सावधानी के तौर पर वन विभाग ने शेरों केलोकेशन की जानकारी के लिए 40 ट्रेकर रखे हैं। जो शेरों पर सतत निगरानी रखते हैं। जब कभी शेर ट्रैक के निकट आते हैं, तो उन्हें दूर भगाया जाता है।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned