Ahmadabad News : राजकोट में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को रिटर्न गिफ्ट

पैनल टू पैनल जीत का सेहरा भी भाजपा प्रत्याशियों के सिर बंधता चला गया। भाजपा ने इस बार अधिकांश जगहों पर नए प्रत्याशियों को मौका दिया था, जिसका बेहरीन परिणाम सामने आया। दूसरी ओर चुनाव परिणाम के सामने आने के साथ ही कांग्रेस के धुरंधर नेता भी पटखनी खाते नजर आए। खास बात यह रही कि राजकोट में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक भी सभा का संबोधन नहीं किया था। इसके बावजूद राजकोट के मतदाताओं ने पिछले साढ़े तीन साल के दौरान महानगर में जो विकास कार्य किए गए उसका रिटर्न भेंट मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को सौंपा।

By: Binod Pandey

Published: 24 Feb 2021, 10:21 AM IST

राजकोट. महानगर पालिका चुनाव में राजकोट के 18 वार्ड की 72 सीटों मेें से भाजपा ने 68 सीट पर कब्जा जमाकर बड़ी जीत हासिल की है। कांग्रेस को पूरे शहर में से सिर्फ वार्ड नंबर 15 में सफलता मिली है।

विपक्ष के पूर्व नेता वशरामभाई सागठिया और उनकी पैनल सदस्य विजेता बनकर मनपा में कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करेंगे। मंगलवार सुबह से शुरू हुई मतगणना में एक के बाद एक पैनल पर भाजपा के प्रत्याशी बढ़त बनाते गए। बाद में पैनल टू पैनल जीत का सेहरा भी भाजपा प्रत्याशियों के सिर बंधता चला गया। भाजपा ने इस बार अधिकांश जगहों पर नए प्रत्याशियों को मौका दिया था, जिसका बेहरीन परिणाम सामने आया। दूसरी ओर चुनाव परिणाम के सामने आने के साथ ही कांग्रेस के धुरंधर नेता भी पटखनी खाते नजर आए। खास बात यह रही कि राजकोट में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक भी सभा का संबोधन नहीं किया था। इसके बावजूद राजकोट के मतदाताओं ने पिछले साढ़े तीन साल के दौरान महानगर में जो विकास कार्य किए गए उसका रिटर्न भेंट मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को सौंपा। वार्ड नंबर आठ में भाजपा के पैनल के विरुद्ध कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की जमानत तक जब्त हो गई।

यह भी एक नया रिर्काड बनेगा। शहर कांग्रेस प्रमुख अशोक डांगर और उनकी कैडर के अधिकांश बड़े नेताओं की पराजय हुई है। वार्ड नंबर 3 में जहां गुजरात महिला कांग्रेस की प्रमुख गायत्रीबा वाघेला और उनकी पैनल का भविष्य निश्चित हो रहा है, वे अपने वार्ड को बचा नहीं सकी। भाजपा के विजेताओं में स्टैंडिंग कमेटी के पूर्व चेयरमैन पुष्कर पटेल, पूर्व कॉरपोरेटर देवांग मांकड, युवा भाजपा के महामंत्री नेहल शुक्ल, पूर्व डिप्टी मेयर दर्शिता बेन शाह और राजकोट में भाजपा के युवा चेहरे के रूप में पेश किए गए युवा मोर्चा के प्रमुख प्रदीप डव और मंत्री परेश पीपलिया, डॉ दर्शनाबेन पंडया, पूर्व विधायक भानुबेन बाबरिया समेत अन्य जाने-पहचाने चेहरे आसान जीत हासिल करने में सफल हुए। आगामी दिनों में राजकोट महानगर पालिका का जनरल बोर्ड पूर्ण रूप से केसरिया रंग से रंगा नजर आएगा। वर्ष 2015 में आखिरी घड़ी के रस्साकशी के बाद 38/34 का रिकार्ड बना था। इसके बाद इस चुनाव में कांग्रेस दो आंकड़े पर भी नहीं पहुंच सकी। चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का रोड शो हुआ था, लेकिन इससे भी आप को राजकोट में एक भी सीट हासिल नहीं हुई।

BJP
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned