Ahmadabad News : शिक्षा का उपयोग आत्मनिर्भर बनने और समृद्ध राष्ट्र निर्माण के लिए करें : राज्यपाल

दांतीवाडा कृषि यूनिवर्सिटी का 16वां दीक्षांत समारोह
22 गोल्ड मेडल समेत 512 विद्यार्थियों को डिग्री प्रदान की गई

By: Binod Pandey

Published: 25 Feb 2021, 10:08 AM IST

पालनपुर. बनासकांठा जिले के दांतीवाडा कृषि यूनिवर्सिटी के 16वें दीक्षांत समारोह में राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने वीडियो संदेश से विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामना देते हुए उन्हें अपनी योग्यता और ज्ञान का उपयोग राष्ट्र सेवा के लिए करने की अपील की। इस अवसर पर विभिन्न विभागों में श्रेष्ठ परिणाम लाने वाले 22 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल और स्नातक, अनुस्नातक, डॉक्टरेट के 512 विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. आर.एम.चौहाण, आईसीएआर नई दिल्ली के डिप्टी डॉयरेक्टर जरल डॉ ए के सिंह ने डिग्री प्रदान किया। इस अवसर पर वीडियो संदेश से राज्यपाल ने विद्यार्थियों से कहा कि समाज और किसान उनकी प्रतिक्षा कर रहे हैं, उनके जीवन में बदलाव लाने में विद्यार्थी सहभागी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में कृषि क्षेत्र की वजह से देश का जीडीपी संतुलित रहा, जबकि अन्य सभी क्षेत्रों में स्थिति खराब रही। गुजरात में हो रही प्राकृतिक खेती की उन्होंने सराहना की। उन्होंने कहा कि इससे जहरमुक्त खेती को बढ़ावा मिल रहा है तो किसानों की आवक भी बढ़ रही है। इस अवसर पर आईसीएआर नई दिल्ली के डिप्टी डॉयरेक्टर जनरल डॉ. ए के सिंह ने कहा कि छोटे ग्रामीण केन्द्र समेत बढ़ती आबादी को लेकर पर्याप्त अनाज का उत्पादन जरूरी है। वर्ष 2050 तक भोजन के लिए अनाज का मांग करीब 3 अरब टन तक पहुंचने का अनुमान है। इसकी तैयारी अभी से करनी होगी। इस अवसर पर उन्होंने गुजरात में बागवानी क्षेत्र में हो रही उल्लेखनीय प्रगति का जिक्र किया। आयोजन में कुलपति डॉ आर एम चौहाण ने स्वागत प्रवचन किया। कुलपति ने फैकल्टी ऑफ वैटनरी साइंस एंड एनिमल हसबैंड्री की छात्रा श्वेता खत्री को सात गोल्ड मेडल प्रदान किया। फैकल्टी ऑफ एग्रीकल्चर के विद्यार्थी पृथ्वी गोस्वामी को छह मेडल मिले।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned