Gujarat Budget : जल संसाधन विभाग के लिए 5494 करोड़ रुपए का प्रावधान

बजट में योजन के तीसरे चरण के लिए 1071 करोड़ की मंजूरी की गई। इसके अलावा अटल भूजल योजना के लिए पांच वर्ष के दौरान सरकार 757 करोड़ रुपए खर्च करेगी। राज्य में चेकडैम, तालाबों के गहरीकरण और नए तालाबों के निर्माण से जल संचय के लिए 312 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया।

By: Binod Pandey

Published: 03 Mar 2021, 10:54 PM IST

गांधीनगर. बजट के दौरान राज्य के वित्त मंत्री व उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि राज्य में पहले जल की भीषण समस्या थी, राज्य को पानी की कमी वाले राज्यों में गिना जाता था। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस पर विशेष ध्यान देते हुए पिछले 25 साल के प्रयासों के परिणामस्वरूप देश भर में गुजरात को पानी प्रबंधन के मामले में रोल मॉडल बना दिया। नीति आयोग ने गुजरात को कॉपोजिट वाटर मैनेजमेंट इंडेक्स में पिछले तीन साल से लगातार पहले स्थान पर रखा है। बजट में जल संसाधन विभाग के लिए 5494 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इसमें सौनी योजना ेके पहले चरण का काम पूरा होने पर दूसरे चरण का काम चल रहा है। बजट में योजन के तीसरे चरण के लिए 1071 करोड़ की मंजूरी की गई। इसके अलावा अटल भूजल योजना के लिए पांच वर्ष के दौरान सरकार 757 करोड़ रुपए खर्च करेगी। राज्य में चेकडैम, तालाबों के गहरीकरण और नए तालाबों के निर्माण से जल संचय के लिए 312 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। बनासकांठा जिले के थराद, लाखणी, डीसा और दंातीवाडा तहसील के करीब 6 हजार हेक्टेयर क्षेत्र को लाभान्वित करने वाली थराद से सीपु डैम तक की पाइपलाइन योजना शुरू है, इसके लिए 226 करोड़ रुपए, साबरमती नदी पर हिरपुरा और वलासणा बैरेज के चालू काम के लिए 50 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। सुजलाम सुफलाम योजना के तहत अभी पाइपलाइन से 2 किलोमीटर की सीमा में आने वाले 737 तालाबों में पानी आपूर्ति होती है, किसानों की मांग पर इस पाइपलाइन से तीन किलोमीटर दायरे में अतिरिक्त 295 तालाबों में जलापूर्ति के लिए पाइपलाइन डालने का काम पूरा किया जाएगा, जिसके लिए 10 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned